1. Home
  2. भारत
  3. उत्तर प्रदेश
  4. श्वेत-पत्र सफेद झूठ की किताब, योगी से नहीं सम्भल रहा राजपाट: अखिलेश

श्वेत-पत्र सफेद झूठ की किताब, योगी से नहीं सम्भल रहा राजपाट: अखिलेश

समाजवादी पार्टी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा जारी श्वेत-पत्र को सफेद झूठ की किताब करार देते हुए आज कहा कि योगी से राजपाट नहीं सम्भल रहा है और कोई काम नहीं करने वाली भाजपा आने वाले...

Reported by: Bhasha [Updated:20 Sep 2017, 4:20 PM IST]
श्वेत-पत्र सफेद झूठ की किताब, योगी से नहीं सम्भल रहा राजपाट: अखिलेश

लखनऊ: समाजवादी पार्टी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा जारी श्वेत-पत्र को सफेद झूठ की किताब करार देते हुए आज कहा कि योगी से राजपाट नहीं सम्भल रहा है और कोई काम नहीं करने वाली भाजपा आने वाले चुनाव में एक बार फिर कोई अफीमी मुद्दा उठाकर जीत हासिल करने की कोशिश करेगी।

अखिलेश ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार ने अपने छह महीने का कार्यकाल पूरा होने से पहले पिछली सरकारों के कामकाज पर जो श्वेत-पत्र जारी किया है, वह सफेद झूठ की किताब है। जो सरकार पिछले छह माह में खुद कुछ नहीं कर सकी, वह बहकाने के लिए श्वेत-पत्र ला रही है। उन्होंने कहा कि अगर कोई उनसे मंत्रोच्चार करने या पूजा का इंतजाम करने को कहे तो वह शायद नहीं कर सकेंगे, उसी तरह मुख्यमंत्री योगी राजपाट नहीं चला पा रहे हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि जनता को बहकाकर और धोखा देकर सत्ता में आयी योगी सरकार के पास विकास की कोई योजना नहीं है। बाबा राम रहीम के साथ सभी प्रमुख भाजपा नेताओं की तस्वीरें हैं, इसलिये वह दूसरे मुद्दे श्वेत-पत्र उठा रहे हैं। मुद्दाविहीन यह पार्टी चुनाव के वक्त कुछ ऐसा बहकाने वाला कोई अफीमी मुद्दा लाएगी, जिससे बाकी सारे मुद्दे किनारे हो जाएंगे। हम जनता को इससे सावधान करना चाहते हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने एक शेर पढ़ते हुए योगी पर तंज किया और कहा कि कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ असली धोखा तो भाजपा ने किया है। अब किसान खुद कह रहे हैं कि उनके साथ मजाक हुआ है। मुख्यमंत्री कर्जमाफी की खुशी में इतना विभोर हो गये कि उन्होंने उन किसानों के ऋणमोचन प्रमाणपत्र नहीं देखे, जिनका चंद पैसे कर्ज माफ हुआ है।

अखिलेश का यह जवाब मुख्यमंत्री योगी के कल के उस पर तंज पर था जिसमें उन्होंने कहा था कि कर्जमाफी का मजाक उड़ाने वाले अखिलेश को किसान की परिभाषा नहीं मालूम है। सपा अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को न्यौता दिया कि वह उनके गांव आएं और बताएं कि किस पेड़ में कौन सा फल लगेगा। उन्होंने कहा कि हमसे कोई यह ना कहे कि हम किसान के बारे में नहीं जानते।

अखिलेश ने योगी सरकार पर पूर्ववर्ती सपा सरकार के विकास कार्य रोककर प्रदेश की तरक्की बाधित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र और प्रदेश में भाजपा सरकार रूपी डबल इंजन भी प्रदेश को आगे नहीं ले जा पा रहा है। सपा अध्यक्ष ने गत सोमवार को योगी सरकार द्वारा जारी श्वेत-पत्र का बिंदुवार जिक्र करते हुए अपनी सरकार में कराये गये विकास कार्यों का हवाला दिया और मौजूदा सरकार को चुनौती दी कि वह उससे बेहतर काम करके दिखाये।

सपा सरकार के कार्यकाल में हर सप्ताह औसतन दो दंगे होने के मुख्यमंत्री योगी के आरोप पर अखिलेश ने कहा कि योगी ने तो दंगे के आरोपी को अपनी सरकार में मंत्री पद दिया है। इस सरकार ने कानून-व्यवस्था को बरबाद कर दिया है। कई जगह पुलिस पिट रही है तो कई जगह वह अन्याय भी कर रही है।
उन्होंने कहा कि भाजपा उनकी पिछली सरकार पर भेदभावपूर्ण तरीके से काम करने का आरोप लगाती रही है। मौजूदा सरकार रानी सारे लक्ष्मीबाई अवार्ड और दिये गये 18 लाख लैपटाप वापस ले ले और जांच कराने के बाद उन्हें वापस दे दे।

You May Like