1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. योगी सरकार के 30 दिन का 'टेक ऑफ' रहा शानदार

योगी सरकार के 30 दिन का 'टेक ऑफ' रहा शानदार

ये भी पढ़ें: कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए रिकॉर्ड आवेदन, जानिए कितना खर्च आता है इस यात्रा में इस गांव में शादी से पहले संबंध बनाना है जरूरी, तभी होती है शादी!

India TV News Desk [Updated:20 Apr 2017, 10:45 AM IST]
योगी सरकार के 30 दिन का 'टेक ऑफ' रहा शानदार - India TV

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महासचिव विजय बहादुर पाठक ने कहा है कि 30 दिन के भीतर ही किसी सरकार के कार्यो का सही आकलन तो नहीं किया जा सकता, लेकिन योगी सरकार ने शुरू से ही 'पॉलिटिक्स ऑफ परफार्मेस' पर जिस तरह से काम करना शुरू किया है, उससे यह स्पष्ट है कि पांच वर्षो के बाद यह सरकार जनता की उम्मीदों पर खरा उतरेगी। 

प्रदेश महासचिव विजय बहादुर पाठक ने विशेष बातचीत के दौरान यह बातें कही। पाठक ने कहा, "योगी सरकार का टेक ऑफ शानदार रहा है। योगी सरकार एक महीने के भीतर ही जिस तरह से फैसले लेती दिखाई दे रही है, उससे जनता के बीच एक अच्छा संदेश गया है।"

         ये भी पढ़ें:

विजय बहादुर ने कहा कि एक महीने के भीतर ही योगी सरकार ने बूचड़खानों पर कार्रवाई की। एंटी-रोमियो दल बनाकर बहु-बेटियों को एक सुरक्षित माहौल देने का काम किया है, जिससे प्रदेश में सुरक्षा का माहौल बना है। सरकार की ओर से अवैध बूचड़्खानों पर की गई कार्रवाई को लेकर उन्होंने कहा, "उप्र में अब अवैध कारोबार नहीं चलेगा। अवैध बूचड़खाने हों या अवैध खनन सबके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लेकिन आप देखिए कि जिनके पास वैध दस्तावेज है, उनकी दुकानें आज भी चल रही हैं। उनके लिए कोई संकट नहीं है।"

भाजपा के वरिष्ठ नेता पाठक ने हालांकि यह भी कहा कि किसी भी सरकार का आकलन 30 दिन के भीतर नहीं कर सकते, लेकिन शुरुआत शानदार रही है, जिस वजह से लोग को उम्मीद है कि अगले पांच वर्षो में अच्छा काम होगा। पाठक ने कहा कि वर्तमान सरकार 'सबका साथ, सबका विकास' के नारे पर काम करेगी। पिछली सरकार की तरह यह सरकार अधिकारियों में वर्ग विशेष के आधार पर भेदभाव करने का काम नहीं करेगी।

उन्होंन कहा, "अधिकारी वही हैं। लेकिन एक महीने के भीतर ही सरकार ने यह संदेश देने का काम किया कि लापरवाही नहीं चलेगी। काम करना पड़ेगा। अधिकारियों ने भी इसको महसूस करते हुए सरकार बनते ही अपना काम किया है।"

भाजपा नेता ने कहा कि सभी अधिकारी उप्र के हैं और सभी अधिकारी उप्र के बारे में सोचते हैं। इसीलिए सरकार पूर्वाग्रह से कोई काम नहीं किया जाएगा। इन्हीं अधिकारियों ने एक महीने के भीतर ही काम करके दिखाया है।

एक सवाल के जवाब में विजय बहादुर ने कहा कि योगी ने सरकार बनने के बाद ही बुंदेलखंड को प्राथमिकता पर रखा है। सरकार बनने के बाद ही योगी जी ने सिंचाई मंत्री को दिशा निर्देश दिया कि बुंदेलखंड जाकर वहां की स्थिति का आकलन कर सरकार को अपनी रिपोर्ट दें। मुख्यमंत्री खुद बुंदेलखंड की समस्याओं को लेकर गंभीर हैं।

भाजपा नेता ने कहा कि सरकार की नीति और नीयत साफ है और जब सरकार की मंशा साफ होती है तो उसका असर भी दिखाई देता है। बूचड़खानों और एंटी-रोमियो अभियान को लेकर विपक्ष के सवालों को लेकर पाठक ने कहा कि सरकार ने हमेशा ही यह स्पष्ट किया है कि खुले में मांस क्यों बिकेगा। यदि सरकार यह चाहती है कि जो भी मांस की बिक्री करे उसके पास एक लाइसेंस हो और वह सभी नियम कायदे का पालन करे, तो इसमे दिक्कत क्या है।

एक सवाल के जवाब में पाठक ने कहा कि अखिलेश यादव हमेशा ही अपने कार्यकाल के दौरान लोगों को जाति के चश्मे से देखते रहे। सरकार बदल चुकी है। अब उन्हें भी अपना नजरिया बदलना चाहिये। पांच वर्षो तक वह इसी की राजनीति करते रहे।

दरअसल, उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर आरोप लगाया था कि बूचड़खानों पर कार्रवाई के नाम पर वह समान्य अल्पसंख्यकों को परेशान करने का काम कर रही है, लेकिन हिंदुओं के स्लॉटर हाउस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

संगठन की तैयारियों को लेकर पाठक ने कहा कि मई के प्रथम सप्ताह में लखनउ में ही प्रदेश की कार्य समिति का आयोजन किया जाएगा। इसका उद्घाटन राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह करेंगे। उन्होंने कहा कि दीनदयाल जनशताब्दी योजना के तहत लगातार कार्यक्रम होंगे। 10 मई से 25 मई के बीच 10 हजार विस्तारक निकलने वाले हैं। जो संगठन का काम देखेंगे। 26 मई को केंद्र सरकार के तीन वर्ष पूरे होने जा रहे हैं, इसे लेकर भी भाजपा के कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे।

You May Like

Write a comment

Promoted Content