1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. मप्र उप्रचुनाव: शहडोल में 62.71 और नेपानगर में 71.25 फीसदी मतदान

मप्र उप्रचुनाव: शहडोल में 62.71 और नेपानगर में 71.25 फीसदी मतदान

Bhasha [ Updated 19 Nov 2016, 19:38:35 ]
मप्र उप्रचुनाव: शहडोल में 62.71 और नेपानगर में 71.25 फीसदी मतदान - India TV

भोपाल: मध्यप्रदेश में हुए उपचुनाव में आज शाम पांच बजे तक शहडोल लोकसभा सीट पर 62.71 प्रतिशत, जबकि नेपानगर विधानसभा सीट पर 71.25 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार के नोटबंदी के निर्णय के बाद हो रहे इस उपचुनाव को अहम माना जा रहा है और इसे नोटबंदी के बाद सत्तारूढ़ भाजपा के लिये लिटमस टेस्ट के रूप में देखा जा रहा है। (देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

एक चुनाव अधिकारी ने को बताया कि शाम पांच बजे बजे तक शहडोल लोकसभा क्षेत्र में 62.71 फीसद मतदान हुआ। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान शहडोल संसदीय क्षेत्र में 62.2 प्रतिशत मतदान हुआ था। जबकि दूसरी ओर नेपानगर विधानसभा क्षेत्र में शाम पांच बजे तक 71.25 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। इसके साथ ही चुनाव अधिकारी ने बताया कि मतदान के दौरान दोनों निर्वाचन क्षेत्रों से किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है।

Also read:

मध्यप्रदेश की यह दोनों सीटें अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित हैं। प्रारंभ में इलाके में विकास के अभाव में शहडोल लोकसभा सीट की पांच मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं द्वारा उपचुनाव का बहिष्कार किया गया था, लेकिन बाद में संबंधित अधिकारियों द्वारा समझाए जाने पर ग्रामीण मदतान प्रक्रिया में भाग लेने के लिए सहमत हो गये। शहडोल लोकसभा सीट से 17 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि नेपानगर विधानभा सीट से केवल चार उम्मीदवार ही अपना भाग्य आजमा रहे हैं। शहडोल सीट में 16,00,787 मतदाता तथा नेपानगर सीट में 2,30,420 मतदाता पंजीकृत हैं।

कांग्रेस ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री दलबीर सिंह और शहडोल लोकसभा क्षेत्र से पूर्व सांसद राजेश नंदिनी सिंह की बेटी हिमाद्री सिंह को उम्मीदवार बनाया है, तो भाजपा ने प्रदेश के कैबिनेट मंत्री एवं आदिवासी नेता ज्ञान सिंह को इस सीट पर मैदान में उतारा है। वहीं, नेपानगर सीट के लिये कांग्रेस ने क्षेत्र के आदिवासी नेता अंतर सिंह बद्रे को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि भाजपा ने इस क्षेत्र से विधायक रहे दिवंगत राजेन्द्र श्यामलाल दादू की बेटी मंजू दादू को अपना प्रत्यशी बनाकर क्षेत्र के मतदाताओं की सहानभूति हासिल करने की कोशिश की है।

भाजपा सांसद दलपत सिंह परस्ते के निधन के कारण शहडोल लोकसभा क्षेत्र में उप चुनाव हो रहा है, जबकि नेपानगर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव यहां से भाजपा विधायक राजेन्द्र श्यामलाल दादू की सड़क हादसे में मृत्यु होने के कारण हो रहा है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में शहडोल से भाजपा सांसद परस्ते ने कांग्रेस की राजेश नंदिनी को 2.14 लाख मतों के अंतर से पराजित किया था। यहां से वर्तमान भाजपा प्रत्याशी ज्ञान सिंह इस सीट से वर्ष 1996 और वर्ष 1998 में दो दफा विजयी हो चुके हैं।

मतों की गणना 22 नवंबर को होगी और 24 नवंबर तक उपचुनाव की प्रक्रिया पूरी हो जायेगी।

Read Complete Article
loading...