1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. राज्यपाल कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात: नीतीश कुमार

राज्यपाल कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात: नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को पटना में कहा कि बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात है। उन्होंने राज्यपाल के रूप में बेहतरीन कार्य किए हैं।

IANS [Published on:19 Jun 2017, 6:34 PM IST]
राज्यपाल कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात: नीतीश कुमार - India TV

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को पटना में कहा कि बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात है। उन्होंने राज्यपाल के रूप में बेहतरीन कार्य किए हैं। केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) द्वारा कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने की घोषणा के बाद नीतीश ने राजभवन पहुंचकर कोविंद से मुलाकात की। इस दौरान दोनों के बीच करीब 15 मिनट तक बातचीत हुई।

जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलने के बाद कहा, ‘बिहार के राज्यपाल को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है। राज्यपाल के कार्यकाल के दौरान उन्होंने राज्य सरकार के साथ आदर्श रूप से जो संबंध होना चाहिए, वह निभाया है। बिहार के राज्यपाल को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जाना प्रसन्नता की बात है।’ नीतीश ने कहा कि राज्यपाल कुछ ही देर में दिल्ली जाने वाले हैं। JD (U) द्वारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर कोविंद को समर्थन दिए जाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा, ‘यह प्रश्न पूछे जाने का यह मुनासिब समय नहीं है। मैंने महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद और कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपनी 'फीलिंग' बता दी है।’ 

इससे पहले नीतीश ने कहा था कि सत्तापक्ष को एक-दो उम्मीदवारों का नाम तय कर सभी दलों के सामने लाना चाहिए और उनमें एक नाम पर सहमति बनाने का प्रयास करना चाहिए। BJP ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को राष्ट्रपति उम्मीदवार क्यों नहीं बनाया, इस सवाल पर नीतीश ने कहा कि यह उनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है। नीतीश ने बिहार में आपराधिक घटनाएं बढ़ने से संबंधित एक सवाल पर कहा, ‘कथित प्रगतिशील राज्यों की तुलना में बिहार में विधि-व्यवस्था की स्थिति बेहतर है। वैसे, कोई भी सरकार आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगा देने का दावा नहीं कर सकती। बिहार में अपराध की घटनाएं होती हैं, तब तुरंत कारवाई भी होती है।’

राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 17 जुलाई को मतदान होना है। नतीजा 20 जुलाई को घोषित होगा। वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है।

Write a comment