1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. गुजरात चुनाव में 'बापू' भरोसे बीजेपी, रामकथा वाचक करेंगे बेड़ा पार!

गुजरात चुनाव में 'बापू' भरोसे बीजेपी, रामकथा वाचक करेंगे बेड़ा पार!

गुजरात में मोरारी बापू के भक्तों की तादाद काफी ज्यादा है इसलिए माना जा रहा है कि छह महीने पुराना ये वीडियो जारी कर भाजपा गुजरात चुनाव में फायदा उठाना चाहती है और वो मोरारी बापू के इस प्रवचन के जरिए मतदाताओं को...

Written by: India TV News Desk [Published on:14 Nov 2017, 7:45 AM IST]
गुजरात चुनाव में 'बापू' भरोसे बीजेपी, रामकथा वाचक करेंगे बेड़ा पार!

नई दिल्ली: गुजरात में भाजपा ने मशहूर रामकथा वाचक मोरारी बापू के एक प्रवचन के जरिए वोटर्स को लुभाने की कोशिश कर रही है। गुजरात भाजपा ने मोरारी बापू के प्रवचन का एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में मोरारी बापू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ कर रहे हैं। वीडियो मई महीने का है। मोरारी बापू केदारनाथ धाम में प्रवचन कर रहे थे उसी दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के तीन साल के कामकाज का जिक्र कर उनकी सरकार की तारीफ की। मोरारी बापू कह रहे हैं कि मोदी के राज में कोई घोटाला नहीं हुआ है और उनकी राष्ट्रभक्ति पर भी कोई सवाल नहीं उठा सकता।

गुजरात में मोरारी बापू के भक्तों की तादाद काफी ज्यादा है इसलिए माना जा रहा है कि छह महीने पुराना ये वीडियो जारी कर भाजपा गुजरात चुनाव में फायदा उठाना चाहती है और वो मोरारी बापू के इस प्रवचन के जरिए मतदाताओं को लुभाने की कोशिश कर रही है। मोरारी बापू ने प्रवचन के दौरान कहा कि अभी मोदी सरकार का तीन साल पूरा हुआ है। उसका लेखा जोखा अखबार में आ रहा है। मुझ से भी पूछा गया कि एक साधु के नाते आप क्या कहना चाहेंगे। मैने टेलीफोन करके कहा कि मैं सबसे दूरी रखे हुए हूं लेकिन मैं इतना कह सकूंगा कि इस व्यक्ति की राष्ट्रभक्ति पर कोई माई का लाल उंगली नहीं उठा सकता। बाकी राष्ट्रभक्ति के बारे में जैसे वो अंग्रेज़ न्यायाधीश कहता था कि ये गांधी को मैं कोर्ट में देखता हूं न तो कांपता हूं क्योंकि गांधी निर्णय कुछ भी करे लेकिन उसके सत्य के बारे में जब मैं सोचता हूं तब मैं कांप जाता हूं।

उन्होंने आगे कहा कि मुझे किसी प्रधानमंत्री से, किसी की सरकार से क्या लेना देना लेकिन भारत के नागरिक के रूप में मैने दो वाक्य कहे थे कि राष्ट्रभक्ति के बारे में उस पर उंगली नहीं उठाई जा सकती। मुझे अच्छा लगा कि केदारनाथ के कपाट खुले और हमारे प्रधानमंत्री सबसे पहले आये। ये मुझे अच्छा लगा। मेरी समझ जितनी है गुरु कृपा से इतने में और तीन साल में एक भी घोटाला बाहर नहीं आया। इसकी तो दुश्मन को भी सराहना करनी पड़ेगी।

You May Like