Ford Assembly election results 2017 Akamai CP Plus
  1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. राहुल के राजतिलक से पहले बड़ा खुलासा, 11 मिनट के टेप से खुली कांग्रेस की पोल

राहुल के राजतिलक से पहले बड़ा खुलासा, 11 मिनट के टेप से खुली कांग्रेस की पोल

पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले शहजाद पूनावाला इस ऑडियो में मनीष तिवारी के सामने उन आरोपों का भी जवाब देते सुने गए जिसमें उनपर कांग्रेस के मेंबर नहीं होने के आरोप लगाए गए हैं।

Written by: India TV News Desk [Updated:04 Dec 2017, 8:39 AM IST]
rahul-shehzad- Khabar IndiaTV
rahul-shehzad

नई दिल्ली: आज राहुल गांधी नामांकन दाखिल करेंगे लेकिन उससे पहले इंडिया टीवी के हाथ ऐसे ऑडियो लगे हैं जिनसे ये खुलासा होता है कि कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव की प्रक्रिया सिर्फ औपचारिकता है। हालांकि इंडिया टीवी इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है लेकिन इन ऑडियो से सियासी जगत में हलचल मच गई है। ऑडियो टेप में बातचीत करने वाले दो किरदार हैं। पहला शहजाद पूनावाला जबकि दूसरा पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी हैं जो पूनावाला की ही तरह ये कहते सुने जा सकते हैं कि कांग्रेस में सिर्फ एक ही परिवार से कोई व्यक्ति अध्यक्ष बन सकता है।

कांग्रेस पर 'ऑडियो बम'

शहजाद पूनावाला - अच्छा। ये कांग्रेस पार्टी इतना घबरा गई है कि मैं ये चुनाव (अध्यक्ष पद का) लड़ने जा रहा हूं।

मनीष तिवारी - शहजाद, आपने यह सब कैसे सोच लिया? क्योंकि पार्टी में पदाधिकारियों की नियुक्ति एकतरफा ही होती है।
शहजाद पूनावाला - मैं सच कहूं तो मैंने कभी सीक्रेट बैलेट से ये चुनाव होते हुए नहीं देखा है।
मनीष तिवारी - आदर्शवादी बातों में मत पड़ो। हकीकत ये है कि कांग्रेस एक संपत्ति है। यह कोई राजनीतिक दल नहीं हैं

'निजी संपत्ति है कांग्रेस'

मनीष तिवारी - शहजाद, आपने यह सब कैसे सोच लिया? क्योंकि पार्टी में पदाधिकारियों की नियुक्ति एकतरफा ही होती है।
शहजाद पूनावाला - हां, लेकिन यह बहुत दिन नहीं चल सकता। मैं कोई पद नहीं चाहता और न ही मुझे किसी पार्टी से कोई टिकट चाहिए और मैं कांग्रेस से भी कोई टिकट नहीं चाहता। सवाल ये है कि आखिर कैसे कोई परिवार लगातार राज कर सकता है या अपनी काबिलियत को नजरअंदाज कर हमें एक परिवार की विरासत को ढोना होगा ?
मनीष तिवारी - आदर्शवादी बातों में मत पड़ो। हकीकत यह है कि कांग्रेस एक संपत्ति है। यह कोई राजनीतिक दल नहीं हैं और भारत में कोई भी पार्टी राजनीतिक दल नहीं हैं। ये सभी संपत्तियां हैं। यह सुधारों की दूसरी लहर है, जो कांग्रेस के लिए बहुत जरूरी है। अगर तुम पहली पंक्ति में आना चाहते हो, तो आपको इन सब बातों को पीछे छोड़ना होगा। तभी ऐसा करने से फायदा होगा।

पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले शहजाद पूनावाला इस ऑडियो में मनीष तिवारी के सामने उन आरोपों का भी जवाब देते सुने गए जिसमें उनपर कांग्रेस के मेंबर नहीं होने के आरोप लगाए गए हैं।

'मेरे पास हैं मेंबरशिप के सबूत'

मनीष तिवारी - उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या आप मेरे साथ काम करते थे? मैंने कहा, हां, वो मेरे साथ काम करता था और वो अच्छा काम करता था।
शहजाद पूनावाला - अच्छा। ये कांग्रेस पार्टी इतना घबरा गई है कि मैं ये चुनाव (अध्यक्ष पद का) लड़ने जा रहा हूं, तो उन्होंने मुझे ये कह दिया कि मैं पार्टी का सदस्य ही नहीं हूं। आप विश्वास नहीं करेंगे कि मेरे पास पार्टी की तरफ से एक दिन पहले ही ईमेल आया है कि मैं इस पार्टी का ऑफिस बीयरर हूं। मेरे पास AICC का साइन किया हुआ प्रेस रिलीज है। मेरे पास साइन किया हुआ अपॉइंटमेंट लेटर है।

ऑडियो में पूनावाला अपनी मेंबरशिप पर बात की तो मीडिया के सामने आकर भी इसके सबूत पेश कर दिए। गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को घेरने का इतना अच्छा मौका मिला, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पूनावाला के बहाने राहुल गांधी पर बड़ा अटैक कर दिया। उन्होंने कहा कि कोई शहजाद नाम का युवा है। इसने शहजादे को चुनौती दी है और कांग्रेस के चुनाव में रिगिंग का खुलासा कर दिया। कांग्रेस चुनाव में लोकतांत्रिक मूल्यों की सरेआम धज्जियां उड़ रही है।

शहजाद ने मनीष तिवारी के अलावा कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम से भी फोन पर बात की थी। आचार्य प्रमोद कृष्णम से शहजाद की बातचीत का ये ऑडियो टेप पूरे आठ मिनट का है। इंडिया टीवी इस ऑडियो टेप की भी पुष्टि नहीं करता है लेकिन इस टेप के एक हिस्से में आचार्य प्रमोद कृष्णम शहजाद से उनका अगला कदम पूछते हुए कांग्रेस पार्टी को प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बताते हुए सुनाई दे रहे हैं।

'कांग्रेस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी'

प्रमोद कृष्णम - अगला कदम?
शहजाद पूनावाला - अगला कदम सोचा नहीं सर, मैं तो कांग्रेस में ही हूं। कांग्रेस में ही रहूंगा और इसके खिलाफ लड़ता रहूंगा।
प्रमोद कृष्णम - बिल्कुल... आप ये कहिए कि मैं कांग्रेस में हूं...कांग्रेस में रहने के लिए फर्जी मेंबरशिप की जरूरत नहीं है... आप इस बात को उठाइएगा... कांग्रेसी होने के लिए फर्जी मेंबर बनने की, फर्जी पद लेने की जरूरत नहीं होती है... कांग्रेसी बनने के लिए, कांग्रेस का मेंबर बनने के लिए महात्मा गांधी के आदर्शों की जरूरत होती है... इंदिरा गांधी के आदर्श की जरूरत होती है और वो आदर्श लेकर ही मैं चल रहा हूं... ठीक है... समझे...  मुझे कोई दरकार नहीं है, लेकिन मैं कांग्रेस के इस सिस्टम को ठीक करना चाहता हूं...
शहजाद पूनावाला - यही बात मैं कह रहा हूं बिल्कुल...
प्रमोद कृष्णम - आप कहिए कि जितना भी यूथ कांग्रेस का चुनाव हुआ है, वो सब फेक है। सीधा बोलिए, फर्जी...
शहजाद पूनावाला - आप खुद जानते हैं, आप खुद जानते हैं इस सिस्टम को...
प्रमोद कृष्णम - NSUI का जो इलेक्शन है, उसको छोड़कर अंदर का जो इलेक्शन है वो सब सेलेक्शन है... अगर यही प्रथा रहेगी तो कांग्रेस पार्टी तो प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बन जाएगी... हम कांग्रेस को गांधी की कांग्रेस, इंदिरा गांधी की कांग्रेस, राजीव गांधी की कांग्रेस बनाना चाहते हैं... हम चाहते हैं कि राहुल गांधी उसमें चुनाव लड़ें...  राहुल गांधी के सामने ओपन ये हो कि कोई भी चुनाव लड़ना चाहे, वो लड़ ले...
शहजाद पूनावाला - हां, बिल्कुल यही मांग है... तो बस यही मैं कहूंगा...
प्रमोद कृष्णम - आप ये भी कहिए कि राहुल गांधी ने खुद कहा था कि वो मैं इलेक्शन लड़ रहा हूं..हम फेयरनेस चाहते हैं...

शहजाद पूनावाला की ये बगावत और पार्टी के सीनियर लीडर से बातचीत का ये ऑडियो ऐसे वक्त पर सामने आया है जब पार्टी गुजरात में सबसे कडे़ चुनावों में से एक लड़ रही है। ऐसे में इस तरह की बातें चुनाव में पार्टी को नुकसान ही पहुंचाएगी।

You May Like