1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. सरकार जमाखोरों को 50 फीसदी काला धन वापस कर रही है: राहुल गांधी

सरकार जमाखोरों को 50 फीसदी काला धन वापस कर रही है: राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज सरकार पर आरोप लगाया कि आयकर कानून में संशोधन कर वह काला धन जमा करने वालों का सहयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि अब आधा अघोषित

Bhasha [Updated:30 Nov 2016, 3:44 PM IST]
सरकार जमाखोरों को 50 फीसदी काला धन वापस कर रही है: राहुल गांधी - India TV

नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज सरकार पर आरोप लगाया कि आयकर कानून में संशोधन कर वह काला धन जमा करने वालों का सहयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि अब आधा अघोषित धन उन्हें लौटा दिया जाएगा। उन्होंने संसद के बाहर कहा कि सरकार ने फिर से आधा काला धन जमाखोरों को लौटा दिया है।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

आयकर कानून (दूसरा संशोधन) विधेयक कल लोकसभा में पारित किया गया जिसमें नोटबंदी लागू होने के बाद कोई भी व्यक्ति कर चुकाकर अपने काले धन को वैध बना सकता है। विधेयक के मुताबिक जो लोग बैंकों को काला धन की जानकारी देंगे उन्हें उपकर और जुर्माने सहित 50 फीसदी कर देना होगा।

लोकसभा में विपक्ष के सांसदों के बहिर्गमन के बारे में राहुल ने कहा, संसद में परम्परा है कि जब भी किसी का निधन होता है तो हम सम्मान देते हैं। पहली बार शहीद होने वाले सैनिकों (नगरोटा हमले के) को श्रद्धांजलि नहीं दी गई। इसलिए विपक्ष ने बहिर्गमन किया।

जम्मू में सेना के शिविर पर आतंकवादी हमले में शहीद होने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि देने की विपक्ष की मांग को लोकसभा अध्यक्ष द्वारा खारिज करने के बाद विपक्षी सदस्य संसद से बाहर चले गए। अध्यक्ष ने इस आधार पर श्रद्धांजलि देने से इंकार किया कि अभी पूरा ब्यौरा सामने नहीं आया है।

राहुल के आरोपों का जवाब देते हुए सूचना और प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश की रक्षा से जुड़े मुद्दे पर कांग्रेस राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा, अध्यक्ष ने सूचित किया कि नगरोटा में सघन तलाशी अभियान चल रहा है। अभियान समाप्त होते ही सदन में सैनिकों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

कांग्रेस पर पलटवार करते हुए नायडू ने कहा, देश के लोग ऐसी ओछी राजनीति से घृणा करते हैं। कांग्रेस प्रश्नकाल के दौरान बाहर चली गई और फिर वापस आई। कांग्रेस न तो चर्चा चाहती है न ही सदन चलने देना चाहती है क्योंकि उन्हें अपना भांडा फूटने का डर है। यह नगरोटा के शहीदों का अपमान है।

You May Like

Write a comment

Promoted Content