1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. जद (यू) की अहम बैठक, तेजस्‍वी यादव से इस्‍तीफा मांग सकते हैं नी‍तीश

जद (यू) की अहम बैठक, तेजस्‍वी यादव से इस्‍तीफा मांग सकते हैं नी‍तीश

संकेतों के मुताबिक, इस बैठक में भ्रष्टाचार के खिलाफ कुछ कड़े फैसले लिए जा सकते हैं। बैठक में शामिल होने जा रहे जद (यू) के नेता संजय झा ने संवाददाताओं को बताया, "जद (यू) भ्रष्टाचार को लेकर कोई समझौता नहीं करेगी। नीतीश के...

Edited by: Sailesh Chandra [Published on:11 Jul 2017, 2:14 PM IST]
जद (यू) की अहम बैठक, तेजस्‍वी यादव से इस्‍तीफा मांग सकते हैं नी‍तीश

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोपों के बीच जदयू (JDU) की पटना में विधानमंडल के सदस्यों की बैठक शुरू हो गई है। जेडीयू नेताओं ने बैठक से पहले मीडिया से बातचीत में कहा कि नीतीश कुमार मूल्यों से समझौता नहीं करेंगे। इससे पहले प्रदेश भाजपा ने सीएम से कहा कि वह लालू यादव से अपना नाता तोड़ लें। बिहार के मुख्यमंत्री और जद (यू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री आवास में हो रही बैठक को राजनीतिक हलकों में काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, जिसमें पार्टी के विधायक, विधान पार्षद, कार्यकारिणी के सदस्य, सरकार में शामिल मंत्री और विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्ष शामिल हैं। ये भी पढ़ें: भारत और चीन में बढ़ी तल्खियां, जानिए किसके पास है कितनी ताकत

संकेतों के मुताबिक, इस बैठक में भ्रष्टाचार के खिलाफ कुछ कड़े फैसले लिए जा सकते हैं। बैठक में शामिल होने जा रहे जद (यू) के नेता संजय झा ने संवाददाताओं को बताया, "जद (यू) भ्रष्टाचार को लेकर कोई समझौता नहीं करेगी। नीतीश के राजनीतिक जीवन की पूंजी उनकी स्वच्छ छवि रही है। कई अन्य बातें बैठक में ही साफ होंगी।"

इधर, पूर्व मंत्री और जद (यू) के नेता श्याम रजक ने कहा कि इस बैठक में पार्टी के विस्तार को लेकर चर्चा होनी है। बैठक में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव पर फैसले के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि नीतीश की छवि भ्रष्टचार के खिलाफ 'जीरो टॉलरेंस' की रही है। पार्टी भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर समझौता नहीं करेगी।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और उनके परिवार के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग द्वारा पिछले कुछ दिनों में की गई कार्रवाई के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अब तक चुप्पी साध रखी है।

इधर, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद विपक्षी दलों ने उनके इस्तीफे की मांग तेज कर दी है। उल्लेखनीय है कि सोमवार को राजद विधानमंडल दल की बैठक में सभी विधायक उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के इस्तीफे के विरोध में एकजुट रहे। पार्टी विधायकों का स्पष्ट कहना है कि तेजस्वी के इस्तीफे का प्रश्न ही नहीं उठता है।

बिहार में राजद, जद (यू) व कांग्रेस सत्तारूढ़ महागठबंधन के घटक दल हैं, जिसकी अगुवाई नीतीश कुमार कर रहे हैं। गौरतलब है कि राज्य में विपक्षी दल भाजपा नीतीश कुमार से मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ने के लिए लगातार दबाव बना रही है और लालू के दोनों बेटों तेजस्वी और तेज प्रताप के कथित तौर पर भ्रष्टाचार में शामिल होने के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रही है। नीतीश के मंत्रिमंडल में लालू के बेटे तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री व तेज प्रताप स्वास्थ्य मंत्री हैं। भाजपा सहित कई विपक्षी दलों ने तेजस्वी से इस्तीफे की मांग की है।

ये भी पढ़ें: जानिए कौन है सैयद सलाहुद्दीन, जिसने कश्मीर घाटी को भारतीय बलों की कब्रगाह बनाने की खायी थी कसम
अगर सांप काटे तो क्या करें-क्या न करें, इन बातों का रखें ध्यान...