1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. नोटबंदी से कंगाल हो गए आतंकवादी संगठन: अमित शाह

नोटबंदी से कंगाल हो गए आतंकवादी संगठन: अमित शाह

IANS [ Updated 20 Nov 2016, 19:03:46 ]
नोटबंदी से कंगाल हो गए आतंकवादी संगठन: अमित शाह - India TV

चंडीगढ़: भारतीय जनता पार्टी (BJP) अध्यक्ष अमित शाह ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले का बचाव करते हुए रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस 'साहसी' कदम ने आतंकवादी संगठनों पर कड़ा प्रहार किया है और वे कंगाल हो गए हैं। चंडीगढ़ में भाजपा के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि विपक्षी पार्टियों के जो लोग मोदी सरकार से काले धन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते थे, वे अब नोटबंदी का विरोध कर रहे हैं।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

शाह ने कहा, "ऐसा लगता है कि (नोटबंदी के बाद) उनका काफी नुकसान हुआ है।" उन्होंने कहा, "नोटबंदी के कदम ने आतंकवाद पर कड़ा प्रहार किया है। आतंकवादी संगठन कंगाल हो गए हैं।" शाह ने कहा कि देश के काले धन के कैंसर को ठीक करने के लिए सर्जरी की जरूरत थी और मोदी सरकार ने वही किया है।

Also read:

कांग्रेस और उसके नेतृत्व पर परोक्ष हमला करते हुए शाह ने कहा कि भाजपा की एक विचारधारा है और वह एक लक्ष्य के साथ लोगों के भले के लिए काम करती है। उन्होंने कहा, "हम लोगों को भाजपा की विचारधारा से जोड़ते हैं।" उन्होंने कहा, "मैं मीडिया से पूछता हूं कि क्या आप बता सकते हैं कि कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा? निसंदेह राहुल गांधी होंगे। अगर उनके परिवार में कोई बच्चा पैदा होगा तो अगला कांग्रेस अध्यक्ष वही होगा।"

उन्होंने कहा, "क्या आपने कभी भी किसी गरीब परिवार के व्यक्ति को प्रधानमंत्री बनते देखा है। कांग्रेस में आपको प्रधानमंत्री बनने के लिए एक विशिष्ट परिवार का होना जरूरी है। लेकिन, भाजपा सभी कार्यकर्ताओं को बराबर मौका देती है।" उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने सशस्त्र बलों को सीमा पर पाकिस्तान की अकारण गोलीबारी का करारा जवाब देने की आजादी दी है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा के रैली स्थल के पास प्रदर्शन किया। चंडीगढ़ पुलिस ने उन्हें तितर बितर करने के लिए और रैली स्थल के करीब आने से रोकने के लिए पानी की बौछारों का प्रयोग किया। प्रदर्शनकारी काले झंडे थामे नरेंद्र मोदी सरकार और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। उन्होंने सेक्टर 27 में रैली स्थल के पास पुलिस के बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की।

Read Complete Article
loading...