1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. भोपाल मुठभेड़: SIMI आतंकियों की कब्र पर लिखी गई 'शहादत'!

Best Hindi News Channel

भोपाल मुठभेड़: SIMI आतंकियों की कब्र पर लिखी गई 'शहादत'!

IANS [ Updated 24 Nov 2016, 12:33:52 ]
भोपाल मुठभेड़: SIMI आतंकियों की कब्र पर लिखी गई 'शहादत'! - India TV

खंडवा: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मुठभेड़ में मारे गए स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (SIMI) के 8 आतंकियों में से 5 को खंडवा में दफनाया गया था। इनकी कब्र पर लगाए गए शिलालेख में उन्हें शहीद बताया गया है। इस बात का खुलासा होने पर शहादत की लाइनों पर पेंट करा दिया गया है, मगर शिलालेख लगे हुए हैं।

देश-दुनिया की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ज्ञात हो कि भोपाल केंद्रीय जेल से सिमी के 8 आतंकी दिवाली की रात फरार हो गए थे और बाद में 31 अक्टूबर को भोपाल के गुनगा थाना क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में मारे गए थे। इनमें से 5 अकील खिलजी, महबूब, अमजद, जाकिर और सलीक को बड़ा कब्रिस्तान में दफनाया गया था। इन पांचों की कब्र पर पिछले दिनों शिलालेख लगाए गए। इन शिलालेखों पर आयत के साथ उन्हें शहीद भी बताया गया। यह शिलालेख काले रंग के मार्बल पत्थर के हैं और इन पर सफेद पेंट के जरिये लिखा गया है। 

इन्हें भी पढ़ें:

शिलालेख के एक हिस्से में आयत तो दूसरे हिस्से में शहादत का जिक्र है। इसके साथ ही कब्र के चारों ओर सीमेंट, ईंट आदि भी लगा दी गई है। यहां पिछले कई दिनों से निर्माण कार्य चल रहा है। पांचों सिमी कार्यकर्ताओं की कब्र आसपास ही है। सोशल मीडिया पर बुधवार को सिमी के पांचों आतंकियों की कब्र पर लगे शिलालेखों का वीडियो वायरल हुआ तो सब सकते में आ गए, क्योंकि इन शिलालेखों में उनकी मौत को शहादत बताया गया था। इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में आया, उस हिस्से पर रात में आनन-फानन में पेंट कर दिया गया, जहां उन्हें शहीद बताया गया है।

SIMI Terrorists - India TV

आतंकियों की कब्र पर कुछ यूं लिखी गई थी 'शहादत'।

खंडवा के पुलिस अधीक्षक एम. एस. सिकरवार ने गुरुवार को दौरान स्वीकार किया कि शिलालेखों पर मृतकों को शहीद बताया गया था और उन्हें पेंट करा दिया गया है। ज्ञात हो कि सिमी के विचाराधीन कैदी जेल प्रहरी रमाशंकर यादव की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या करने के बाद जेल से फरार हुए थे और 9 घंटे बाद ही पुलिस ने उन्हें मुठभेड़ में मार गिराया था।

Read Complete Article
loading...