1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. प्रधानमंत्री मोदी की जापान यात्रा सफल रही, ठोस परिणाम निकले: अकबर

Best Hindi News Channel

प्रधानमंत्री मोदी की जापान यात्रा सफल रही, ठोस परिणाम निकले: अकबर

Bhasha [ Updated 23 Nov 2016, 19:44:40 ]
प्रधानमंत्री मोदी की जापान यात्रा सफल रही, ठोस परिणाम निकले: अकबर - India TV

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जापान यात्रा को सार्थक और सफल बताते हुए विदेश राज्यमंत्री एम जे अकबर ने आज कहा कि यह यात्रा सफल रही जिसमें मोदी ने जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ सीमापार आतंकवाद, परमाणु उर्जा के क्षेत्र में सहयोग, रक्षा तथा सुरक्षा सहयोग समेत व्यापक मुद्दों पर चर्चा की जिसके ठोस परिणाम निकले। (देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

अकबर ने कहा कि प्रधानमंत्री आबे ने आतंकवाद को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करने के अपने इरादे को दर्शाते हुए सभी प्रकार के तथा किसी भी रूप में अंजाम दिये जाने वाले आतंकवादी कृत्यों की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री आबे ने हमारे प्रधानमंत्री के साथ मिलकर पाकिस्तान से कहा कि वह नवंबर 2008 में हुए मुंबई हमले तथा 2016 के पठानकोट हमले के दोषियों पर कानूनी कार्रवाई करे।

संसद के दोनों सदनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गत 11-12 नवंबर को हुई जापान यात्रा के बारे में वक्तव्य देते हुए अकबर ने कहा, कुल मिलाकर यह यात्रा काफी सफल रही। इसके ठोस परिणाम निकले जिसमें द्विपक्षीय संबंधों के तीनों स्तंभों को संतुलित तरीके से सुदृढ़ बनाया गया। प्रधानमंत्री मोदी के जापानी प्रधानमंत्री आबे के साथ अनूठे व्यक्तिगत संबंधों के कारण परस्पर हित के विषयों को आगे बढ़ाने में मदद मिली।

मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री आबे के साथ वार्षिक शिखर बैठक में भाग लेने के लिए 11-12 नवंबर को जापान की यात्रा की थी जो प्रधानमंत्री के रूप में उनकी दूसरी जापान यात्रा थी। विदेश राज्य मंत्री के वक्तव्य के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री आबे के साथ व्यापक मुद्दों पर चर्चा की जिनमें द्विपक्षीय, क्षेत्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय मुद्दे शामिल थे। आबे ने विशेष आदरभाव दर्शाते हुए कोबे में कावासाकी बुलेट ट्रेन प्रणाली को देखने के लिए मोदी के साथ यात्रा की।

उन्होंने जापानी संसद में एक महत्वपूर्ण सत्र के दौरान मोदी के साथ लगभग 9 घंटे बिताये जो इस बात का प्रतीक है कि आबे ने इस यात्रा को कितना महत्व दिया। अकबर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की दोनों देशों के उद्योग जगत के अग्रणी लोगों के साथ बातचीत के दौरान मेक इन इंडिया को सुविधाजनक बनाने के लिए सरकार द्वारा शुरू की गयी सुधार प्रक्रिया की सराहना की गयी।

विदेश राज्यमंत्री ने बताया कि दोनों प्रधानमंत्रियों के विचार-विमर्श के दौरान सीमापार आतंकवाद से संबंधित भारत की चिंताओं से अवगत कराया गया। प्रधानमंत्री आबे ने आतंकवाद को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करने के अपने इरादे को दर्शाते हुए सभी प्रकार के तथा किसी भी रूप में अंजाम दिये जाने वाले आतंकवादी कृत्यों की कड़े शब्दों में निंदा की। अकबर ने कहा, प्रधानमंत्री आबे ने हमारे प्रधानमंत्री के साथ मिलकर पाकिस्तान से कहा कि वह नवंबर 2008 में हुए मुंबई हमले तथा 2016 के पठानकोट हमले के दोषियों पर कानूनी कार्रवाई करे।

उन्होंने कहा कि इस यात्रा का एक परिणाम परमाणु उर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग में सहयोग संबंधी हस्ताक्षर पर करार होना भी है। जिससे अंतररराष्ट्रीय भागीदारों के साथ असैन्य परमाणु उर्जा सहयोग के नये अवसरों का मार्ग प्रशस्त होगा।

Read Complete Article
loading...