1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. अब मोबाइल से भी सस्ते में आप खरीद सकते हैं अपना घर, जानें कैसे

अब मोबाइल से भी सस्ते में आप खरीद सकते हैं अपना घर, जानें कैसे

लोगों को सही कीमत और सही स्थान पर घर मिलना एक बड़ी परेशानी बनती जा रही है, पर आज हम आपको बता रहें हैं कि आप किस प्रकार से अपनी मनपसंद जगह में घर खरीद सकते हैं।

India TV News Desk [Updated:19 May 2017, 11:52 AM]
अब मोबाइल से भी सस्ते में आप खरीद सकते हैं अपना घर, जानें कैसे - India TV

नई दिल्ली: महंगाई के इस दौर में आम लोगों के लिए अपना घर किसी सपने की तरह बनता जा रहा है। अब तो सस्‍ते में किराए पर एक कमरा भी मिलना मुश्किल है। सस्‍ते  किराए पर अगर कमरा मिल भी जाए तो इसमें तमाम बंदिशें होती हैं। असल में शहरों में जनसंख्या काफी तेजी से बढ़ती जा रही है, जिसके कारण शहरों में रहने के लिए लोगों को सही कीमत और सही स्थान पर घर मिलना एक बड़ी परेशानी बनती जा रही है, पर आज हम आपको बता रहें हैं कि आप किस प्रकार से अपनी मनपसंद जगह में घर खरीद सकते हैं। (ये भी पढ़ें: चंद्रशेखर ने मुझे धोखा दिया, मैं 21 मौतों के लिए जिम्मेदार: अमरिंदर)

सस्ते घर को खरीदने के लिए आज हम आपको मिलवा रहें हैं “Cuckoo Hostel” से। इसके फाउंडर रजत कुकरेजा हैं, जोकि विदेशों में चल रहें Pop-Up Housing मूवमेंट की तरह ही अपने देश में भी थोड़े स्थान तथा बार-बार प्रयोग आने वाले सामान से लोगों के लिए घर तैयार कर रहें हैं। Cuckoo Hostel आपके घर की समस्या का सही समाधान है। रजत ने सबसे पहले अपने लिए इस घर का निर्माण किया। रजत जिस घर में रहते हैं वह 100 वर्ग फीट से भी छोटा है। रजत का दावा है कि इस घर को बनाने में जो लागत आई है वह किसी आईफोन की कीमत से भी कम ही है।

इस घर को बनाने में लोहे के एंगल, लकड़ी का भूसा तथा कार्डबोर्ड जैसी चीजें चाहिए होती हैं। सीमेंट तथा ईंट से बनने वाले घरों की अपेक्षा इन घरों से पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होता तथा ये बार-बार प्रयोग भी हो सकते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि ये घर एडजस्टेबल तथा फोल्डेबल है यानि आप इनको अपने साथ कहीं भी साथ ले जा सकते हैं।

यह घर बहुत हद तक प्राकृतिक लाइट पर निर्भर करते हैं इसलिए आपको ज्यादा एनर्जी की जरुरत इन घरों में नहीं पड़ती है। साथ ही ये खुद को ठंडा रखने की काबलियत रखते हैं इसलिए आपको इन घरों में कोई एक्स्ट्रा कूलिंग सिस्टम लगाने की भी जरुरत नहीं रहती है। इस प्रकार से इन घरों को बनाने में ज्यादा पैसा नहीं लगता है इसलिए ही ये घर बहुत ही सस्ते में आपको मिल जाते हैं।

अगले स्लाइड में अब किराये का घर हो जाएगा अपना, बन जाएंगे मकान मालिक....

Write a comment