1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. नोटबंदी के 12वें दिन भी राहत नहीं, कतारों में खड़े रहे लोग

नोटबंदी के 12वें दिन भी राहत नहीं, कतारों में खड़े रहे लोग

केंद्र सरकार द्वारा आठ नवंबर को की गई नोटबंदी के 12 दिन बाद भी आम आदमी को कोई राहत नहीं मिली। लोग सोमवार को भी बैंकों और ATM के बाहर कतारों में खड़े दिखे।

IANS [Published on:21 Nov 2016, 8:19 PM IST]
नोटबंदी के 12वें दिन भी राहत नहीं, कतारों में खड़े रहे लोग

नोएडा: केंद्र सरकार द्वारा आठ नवंबर को की गई नोटबंदी के 12 दिन बाद भी आम आदमी को कोई राहत नहीं मिली। लोग सोमवार को भी बैंकों और ATM के बाहर कतारों में खड़े दिखे। उत्तर प्रदेश के नोएडा के सेक्टर 16 में कुछ बैंकों के बाहर कम से कम 40-50 लोग कतार में इंतजार करते पाए गए, जबकि कुछ लोग अंदर भी इंतजार करते नजर आए।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

एक्सिस बैंक के बाहर कतार में खड़े जेनपैक्ट कंपनी में वित्तीय सलाहकार ने कहा, "नोटबंदी के बाद पहली बार मैं बैंक आया और कतार में इंतजार करते हुए मुझे आधा घंटा बीत चुका है।" उन्होंने उम्मीद जताई कि बैंक बंद होने से पहले उनका नंबर आ जाएगा और उनके हाथ कुछ नकदी आ जाएगी। बैंक से पैसे निकालने के लिए ही उन्होंने ऑफिस से एक दिन की छुट्टी ली है।

इसी बैंक के बाहर खड़े विदेशी मुद्रा का व्यापार करने वाले एक व्यक्ति ने कहा, "भीड़ पहले ही दिन की तरह है, लेकिन मुझे लगता है कि यह एक अच्छा कदम है।" उन्होंने कहा, "पहले हम 50 हजार रुपये तक के नोटों को डॉलर में बदलते थे और काफी ग्राहक आते थे।" उन्होंने कहा, "अब हम छोटे से छोटे लेनदेन के लिए भी सही दस्तावेज मांगते हैं और ग्राहकों की संख्या बेहद कम हो गई है। नोटबंदी का असर काला धन रखने वालों पर पड़ा है।"

कोटक महिंद्रा बैंक के बाहर खड़े एक अन्य युवक ने कुछ इसी तरह का विचार व्यक्त किया। उनका कहना था कि इस कदम से हानि से अधिक फायदा हुआ है। उन्होंने कहा, "लोगों को इस बात को समझना चाहिए कि यह फैसला उनके भले के लिए लिया गया है।" युवक ने कहा, "मैं आधे घंटे से कतार में खड़ा हूं और जबतक मेरा काम नहीं हो जाता, खड़ा रहूंगा।"

Also read:
किसानों को राहत, बीज खरीदने के लिए पुराने नोटों का कर सकेंगे इस्तेमाल
लोकसभा में बोले रेल मंत्री सुरेश प्रभु, ‘कानपुर रेल हादसे की होगी फॉरेंसिक जांच’
इन उपायों को अपनाकर कार्यक्षेत्र में पा सकते हैं सफलता
 

You May Like

Write a comment

Promoted Content