1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. कौन है पाकिस्‍तान में मौत की सजा पाए कुलभूषण जाधव?

कौन है पाकिस्‍तान में मौत की सजा पाए कुलभूषण जाधव?

कुलभूषण जाधव का जन्म 1970 में महाराष्ट्र के सांगली में हुआ था। उनके बारे में कहा जाता है कि वह मुंबई के एक रिटायर्ड एसीपी के बेटे हैं। इनके पिता का नाम सुधीर जाधव है।

India TV News Desk [Published on:19 May 2017, 8:24 AM IST]
कौन है पाकिस्‍तान में मौत की सजा पाए कुलभूषण जाधव?

नई दिल्ली: पाकिस्तान में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने के खिलाफ याचिका पर भारत को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में बड़ी जीत मिली। पाकिस्तान का दावा है कि कुलभूषण जाधव को 3 मार्च, 2016 को ईरान से पाकिस्तान में घुसपैठ करते हुए गिरफ्तार किया गया था और वह रिसर्च एंड एनालिसिस विंग यानी रॉ का एजेंट है। जबकि नेवी के पूर्व अधिकारी जाधव कानूनी तौर पर ईरान में अपना व्यापार करते थे। इस पर हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अंतिम फैसला सुनाए जाने तक जाधव की फांसी पर रोक लगाए रखने का आदेश दिया है। (ये भी पढ़ें: चंद्रशेखर ने मुझे धोखा दिया, मैं 21 मौतों के लिए जिम्मेदार: अमरिंदर)

आइए आपको बताते हैं कि कौन है यह कुलभूषण जाधव.....

कुलभूषण जाधव का जन्म 1970 में महाराष्ट्र के सांगली में हुआ था। उनके बारे में कहा जाता है कि वह मुंबई के एक रिटायर्ड एसीपी के बेटे हैं। इनके पिता का नाम सुधीर जाधव है। इन्होंने 1987 में नेशनल डिफेन्स अकैडमी में प्रवेश लिया तथा 1991 में भारतीय नौसेना में शामिल हुए। उसके बाद सेवा-निवृति के बाद ईरान में अपना व्यापार शुरू किया। उनके पास से जो कागजात बरामद हुए उनके मुताबिक वह मुंबई के रहने वाले हैं।

कुलभूषण को फुटबॉल का बड़ा शौक था, वो अक्सर पास के मैदान में दोस्तों के साथ फुटबॉल खेलते थे। कुलभूषण में शुरू से ही देशभक्ति की भावना थी और इसी वजह से उन्होंने नेवी ज्वाइन की, ताकि वो देश सेवा कर सके। वो हमेशा अपने दोस्तों को मिलिट्री में भर्ती होने के लिए प्रेरित करते थे।

जब उनकी एनडीए में बतौर नेवी अफसर पासिंग आउट परेड हुई, तो उसके बाद वो डिलाइल रोड के अपने सभी दोस्तों को अपने साथ ले गए। जब भी उन्हें नेवी से छुट्टियां मिलती, तो वो डिलाइल रोड में ही ज्यादातर समय बिताते थे और क्योंकि उनको अपने दोस्तों का साथ बहुत पसंद था। एक बार ट्रेनिंग के दौरान जब भूषण को छुट्टी मिली तो उसने अपने तमाम दोस्तों को कश्मीर घूमने के लिए आमंत्रित किया और वहां उनके साथ मिलकर खूब मस्ती की।

पिछले वर्ष मार्च में कुलभूषण का जो वीडियो आया था उसे भारत में विशेषज्ञों ने पूरी तरह से फर्जी करार दिया था। इस वीडियो में जाधव ने जो कुछ भी बताया था उसके मुताबिक नाम कुलभूषण जाधव है और नंबर 41558Z है।

वर्ष 2003 में ईरान के चाबहार में छोटा बिजनेस शुरू किया था। वर्ष 2003 में ही बिना किसी रोक टोक के कराची का दौरा किया। वर्ष 2004 में भारतीय एजेंसी रॉ के लिए कुछ इंतजाम किए। रॉ ने वर्ष 2013 में जाधव को संगठन में शामिल किया। उसके बाद से ही बलूचिस्‍तान और कराची में जानकारियां इकट्ठा करने लगा।

जाधव ने बताया था कि वह रॉ के ज्‍वाइंट सेक्रेटरी अनिल कुमार के लिए काम करता है। उसका मकसद बलूचिस्‍तान में मौजूद आतंकी तत्‍वों की मदद से वहां गतिविधियां चलाना था। सभी गतिविधियां अपराधिक और आतंकी कार्यों से जुड़ी थीं जिनमें पाक नागरिकों की हत्‍या भी शामिल था। तभी पता लगा कि रॉ बलूचिस्‍तान में आजादी के लिए चलाए जा रहे आंदोलन में शामिल है। रॉ बलूच आंदोलन को पैसा देती है और कई गतिविधियों का समर्थन करती है। ग्‍वादर, पासनी, जीवानी और दूसरी संस्‍थाओं के बारे में कई अहम जानकारियां उसके पास हैं।

ये भी पढ़ें: ये क्या कर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, क्या उन्हें अब गंवानी पड़ेगी कुर्सी!
क्या होता है महिलाओं में ख़तना-प्रथा? रोकने के लिये सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा मामला....

You May Like