1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. ममता बनर्जी के विमान में कम फ्यूल के मामले की जांच का आदेश

ममता बनर्जी के विमान में कम फ्यूल के मामले की जांच का आदेश

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लेकर कोलकाता जा रही एक उड़ान समेत तीन विमानों में एक ही समय ईंधन कम होने के मामले में DGCA ने जांच का आदेश दे दिया है।

Bhasha [Published on:01 Dec 2016, 5:47 PM]
ममता बनर्जी के विमान में कम फ्यूल के मामले की जांच का आदेश - India TV

नयी दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लेकर कोलकाता जा रही एक उड़ान समेत तीन विमानों में एक ही समय ईंधन कम होने के मामले में नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने जांच का आदेश दे दिया है। सरकार ने गुरुवार को संसद को यह जानकारी दी। तृणमूल कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने इस मामले में साजिश का और ममता बनर्जी की जान को खतरा होने का आरोप लगाया।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)
 
क्या है मामला
ममता बनर्जी कल जिस विमान से कोलकाता पहुंचने वाली थीं, उसे करीब आधे घंटे तक कोलकाता के उपर ही हवा में रहना पड़ा जबकि पायलट ने विमान में ईंधन कम होने की सूचना दी थी। ममता पटना से कोलकाता जाने वाली इंडिगो की जिस उड़ान में सवार थीं, उसके साथ एयर इंडिया और स्पाइसजेट के दो अन्य विमानों ने भी इधन कम होने की जानकारी दी थी। तृणमूल के सांसदों इस मुद्दे को संसद में उठाया और कहा कि ममता बनर्जी को जान से मारने की साजिश थी। 

केवल 13 मिनट हवा में रहना पड़ा
नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने लोकसभा में कहा कि ममता जिस विमान में सवार थीं, उसे कोलकाता हवाईअड्डे के उपर केवल 13 मिनट हवा में रहना पड़ा और यह सुनिश्चित किया गया कि विमान सुरक्षित और व्यवस्थित तरीके से उतरे। नागर विमानन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने राज्यसभा में यह जानकारी दी। 
राजू ने कहा कि नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने इस बारे में जांच का आदेश दे दिया है कि कोलकाता में एक ही समय में तीन विमानों में इधन कम होने की समस्या कैसे आई। 

पढ़ें:-घरों में सोना रखने की लिमिट तय, पुश्तैनी गहनों पर नहीं लगेगा टैक्स

प्रायोरिटी लैंडिंग की मांग नहीं की
मंत्री ने बताया कि नियमानुसार उन्हें पर्याप्त इधन लेकर उड़ान भरनी होती है ताकि वे जरूरत पड़ने पर 30-40 मिनट तक भी आसमान में रह सकें और दूसरे सबसे नजदीकी एयरपोर्ट पर उतर सकें। नागरिक विमानन मंत्री के मुताबिक इन तीनों विमानों ने कम इधन की शिकायत की लेकिन तीनों में से किसी के भी पायलट ने प्राथमिकता के साथ उतरने (प्रायोरिटी लैंडिंग) की मांग नहीं की जबकि वायु यातायात नियंत्रक (एटीसी) ने इसके लिए कहा था। 

ममता की जान को खतरा: तृणमूल
लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने ममता बनर्जी की जान को खतरा होने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार को पता लगाना चाहिए कि कोई षड्यंत्र तो नहीं था। निचले सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि नोटबंदी के फैसले के बाद ममता बनर्जी की जान को खतरा है। वह कोलकाता से पटना और लखनऊ समेत देशभर में जा रही हैं। उनकी जैसी अति महत्वपूर्ण शख्सियतों (VVIP) के विमानों को प्राथमिकता के साथ उतरने की अनुमति दी जानी चाहिए। 

इंडिगो ने कहा विमान में पर्याप्त ईंधन था 
वहीं इंडिगो एयरलाइन्स ने कहा कि हवाई अड्डे पर जगह नहीं होने के कारण विमान उतारने में देरी हुई। विमान में पर्याप्त ईंधन मौजूद था और सामान्य लैंडिंग कराई गई। इंडिगो ने इसे एटीसी और पायलट के बीच हुई गलतफहमी बताया।

Write a comment