1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. सहकारी संकट: CM विजयन अपने मंत्रियों के साथ RBI के बाहर देंगे धरना

सहकारी संकट: CM विजयन अपने मंत्रियों के साथ RBI के बाहर देंगे धरना

तिरूवनंतपुरम: ऐसे में जब केरल के सहकारी क्षेत्र में मुद्रा संकट से ठहराव आ गया है, राज्य के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन अपने मंत्रियों के साथ उसके संरक्षण के लिए कदमों की मांग को लेकर कल

Bhasha [Updated:17 Nov 2016, 9:38 PM]
सहकारी संकट: CM विजयन अपने मंत्रियों के साथ RBI के बाहर देंगे धरना - India TV

तिरूवनंतपुरम: ऐसे में जब केरल के सहकारी क्षेत्र में मुद्रा संकट से ठहराव आ गया है, राज्य के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन अपने मंत्रियों के साथ उसके संरक्षण के लिए कदमों की मांग को लेकर कल यहां स्थित भारतीय रिजर्व बैंक कार्यालय के बाहर धरना देंगे। विजयन ने जल्दबाजी में बुलाये गए एक संवाददाता सम्मेलन में निर्णय की घोषणा करते हुए कहा कि यह चलन से बाहर किये गए 1000 रुपये और 500 रुपये के पुराने नोट बदलने के लिए सहकारी क्षेत्र को अन्य बैंकों के बराबर नहीं समझने के केंद्र के निर्णय के खिलाफ पहला कदम है।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

विजयन ने कहा, यहां स्थित आरबीआई के बाहर अन्य मंत्रियों के साथ सुबह 10 बजे से शाम तक सत्याग्रह किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इससे पहले दिन में उनसे मुलाकात करने वाले कांग्रेस नीत यूडीएफ नेताओं का भी यही विचार था कि केंद्र के निर्णय का इस क्षेत्र के कामकाज पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही 21 नवम्बर को यहां आयोजित होने वाली सर्वदलीय बैठक में आगे के आंदोलन कार्यक्रम पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि आंदोलन मुद्दे पर केरल की भावनाएं व्यक्त करने के लिए है। विजयन ने राज्य विधानसभा का विशेष सत्र आहूत करने के यूडीएफ के अनुरोध पर कहा कि इन सभी मुद्दों पर सर्वदलीय बैठक के दौरान चर्चा की जाएगी।

इससे पहले दिन में विजयन ने कैबिनेट बैठक के दौरान कहा कि उच्च मूल्य के नोट बंद करने की आड़ में सहकारी क्षेत्र को नष्ट करने का एक राजनीतिक षड्यंत्र है। उन्होंने भाजपा के कुछ नेताओं के बयान को बेतुका बताते हुए खारिज कर दिया कि राज्य में सहकारी क्षेत्र कालाधन का भंडार है।

राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार करते हुए विपक्षी यूडीएफ ने क्षेत्र को बचाने के लिए एलडीएफ के साथ मिलकर संयुक्त आंदोलन शुरू करने पर अपनी सहमति जतायी और केंद्र पर राज्य के सहकारी आंदोलन को नष्ट करने के प्रयास का आरोप लगाया। यूडीएफ इस मुद्दे पर आज काला दिन मना रहा है।

यूडीएफ नेताओं ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की और उनसे मुद्दे पर चर्चा के लिए तत्काल विधानसभा का एक सत्र आहूत करने का आग्रह किया। इस बीच भाजपा ने कहा कि मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों द्वारा आरबीआई के बाहर धरने का निर्णय अनुचित है क्योंकि केंद्र साहसिक वित्तीय सुधार लागू कर रहा है।

राज्यपाल पी सदाशिवम से मुलाकात करने वाले भाजपा के प्रदेश प्रमुख के. राजशेखरन ने कहा कि उन्होंने उन्हें स्थिति से अवगत कराया। इस बीच आज राज्य में बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी कतारों का सिलसिला जारी रहा। एक पुलिसकर्मी को तब सिर में चोट आ गई जब उसने उस व्यक्ति को रोका जो मलप्पुरम जिला स्थित इदक्कारा स्थित स्टेट बैंक आफ त्रावणकोर की शाखा में बिना पंक्ति में खड़े हुए भीतर प्रवेश का प्रयास कर रहा था।

Related Tags:
Read Complete Article
Write a comment
Gold Contest 2017