1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर चारधाम के लिये तीर्थयात्रियों के पंजीकरण पर रोक, नहर में बही एक महिला

भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर चारधाम के लिये तीर्थयात्रियों के पंजीकरण पर रोक, नहर में बही एक महिला

ऋषिकेश के उपजिलाधिकारी हर गिरि ने बताया कि मौसम विभाग की ओर से अगले 48 घंटों के दौरान प्रदेश में भारी बारिश के चेतावनी के चलते पहाडों में भूस्खलन की आशंका है। जिसके मद्देनजर आवागमन नियंत्रित रखे जाने की एडवाइजरी जारी की गयी...

Reported by: Bhasha [Published on:11 Jul 2017, 12:28 PM IST]
भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर चारधाम के लिये तीर्थयात्रियों के पंजीकरण पर रोक, नहर में बही एक महिला

देहरादून: उत्तराखंड में मौसम विभाग की ओर से भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर चारधाम के लिये तीर्थयात्रियों के पंजीकरण पर रोक लगा दी गयी है, जबकि देहरादून में बारिश से उफनाई एक नहर में बहने से एक महिला लापता हो गयी। प्रदेश के अधिकांश इलाकों में पिछले 24 घंटों से हो रही भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। गंगा और यमुना सहित प्रदेश की नदियों के जलस्तर में भी लगातार बढोतरी हो रही है। ये भी पढ़ें: भारत और चीन में बढ़ी तल्खियां, जानिए किसके पास है कितनी ताकत

ऋषिकेश के उपजिलाधिकारी हर गिरि ने बताया कि मौसम विभाग की ओर से अगले 48 घंटों के दौरान प्रदेश में भारी बारिश के चेतावनी के चलते पहाडों में भूस्खलन की आशंका है। जिसके मद्देनजर आवागमन नियंत्रित रखे जाने की एडवाइजरी जारी की गयी है और चारधाम जाने वाले तीर्थयात्रियों का पंजीकरण कल और आज दो दिनों के लिये रोक दिया गया है।

गिरि ने बताया कि मौसम की खराब स्थिति जारी रहने पर यात्रियों का पंजीकरण नहीं किये जाने की अवधि को बढाया भी जा सकता है। उन्होंने बताया कि फिलहाल पंजीकरण रोके जाने के बाद ऋषिकेश में मौजूद तीर्थयात्रियों के ठहरने और खाने के लिये पर्याप्त व्यवस्था है ।

मौसम विभाग ने कल शाम उत्तराखंड में अगले 48 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर भारी वर्षा और कहीं-कहीं बहुत भारी बरिश चेतावनी और पहाडों में भूस्खलन तथा निचले मैदानी इलाकों में पानी भरने की आशंका जाहिर करते हुए अधिकारियों से स्थिति पर नजर रखने और लोगों से अपना आवागमन कम से कम करने की सलाह दी है।
इस संबंध में एडवाइजरी जारी करते हुए मौसम विभाग ने स्थानीय जनता, श्रद्वालुओं तथा सवारियां लेकर आने जाने वाले टांसपोटर्स को भी जागरूक और सावधान रहने तथा यथासंभव अपने आवागमन को नियंत्रित करने तथा प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सहयोग करने की सलाह दी है। पिछले 24 घंटों में भी प्रदेश के कई हिस्सों में रूकरूक कर हुई लगातार बारिश से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है।

देहरादून के सहस्त्रधारा क्षेत्र में कल रात एक उफनाई नहर में बहने से एक महिला लापता हो गयी जिसकी तलाश जारी है। बारिश के कारण भूस्खलन होने से कई मार्ग क्षतिग्रस्त हो गये हैं जिन्हें खोलने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश के नदियां भी बारिश के कारण उफान पर चल रही हैं।

गंगा, यमुना और उनकी सहायक नदियों के अलावा छोटी नदियां जैसे रिस्पना, बिंदाल और आसन तथा नाले सब उफान पर हैं, जिसके कारण उनके निकट बसी बस्तियों तथा अन्य निचले इलाकों में अलर्ट जारी कर लोगों को सावधान रहने को कहा गया है। मौसम विभाग की चेतावनी के मददेनजर हरिद्वार समेत कई जिलों में स्कूल और कालेजों को बंद कर दिया गया है। हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि आज हरिद्वार जिले में बारहवीं कक्षा तक के समस्त स्कूलों को बंद रखने के आदेश दिये गये हैं।

ये भी पढ़ें: जानिए कौन है सैयद सलाहुद्दीन, जिसने कश्मीर घाटी को भारतीय बलों की कब्रगाह बनाने की खायी थी कसम
अगर सांप काटे तो क्या करें-क्या न करें, इन बातों का रखें ध्यान...