1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. नोटबंदी: संसद भवन में भी कैश संकट, ई-पेमेंट के इंतजाम नहीं

नोटबंदी: संसद भवन में भी कैश संकट, ई-पेमेंट के इंतजाम नहीं

भारतीय लोकतंत्र के मंदिर संसद में भी नकदी का संकट है। स्वागत कक्ष में जहां विभिन्न तरह की यादगार चीजें बिकती हैं, वहां के कर्मचारी, परिसर में स्थित कैंटीन के साथ-साथ चाय बेचने वाले भी इस मुश्किल समय से गुजर रहे हैं।...

IANS [Published on:28 Nov 2016, 9:44 PM IST]
नोटबंदी: संसद भवन में भी कैश संकट, ई-पेमेंट के इंतजाम नहीं - India TV

नई दिल्ली: भारतीय लोकतंत्र के मंदिर संसद में भी नकदी का संकट है। स्वागत कक्ष में जहां विभिन्न तरह की यादगार चीजें बिकती हैं, वहां के कर्मचारी, परिसर में स्थित कैंटीन के साथ-साथ चाय बेचने वाले भी इस मुश्किल समय से गुजर रहे हैं। यहां तक कि परिसर में स्थित कुछ ATM बार-बार बगैर रुपये के हो जाते हैं। राज्यसभा के कुछ काउंटर जो घड़ियां, कलम और संसद भवन के लोगो वाले फोल्डर बेचते हैं, उनकी बिक्री में आठ नवंबर की नोटबंदी के बाद से बहुत कमी आई है।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

एक दुकान के कर्मचारी ने कहा कि सत्र के दौरान औसत बिक्री चार-पांच हजार की होती है, जो अब घटकर मात्र 1000 के करीब रह गई है। एक व्यक्ति ने कहा, "शायद लोगों के पास खर्च करने के लिए नकदी नहीं है। हमलोगों के पास भी लौटाने के लिए पर्याप्त खुदरा नहीं है।"

बिक्री में कमी आने की एक बड़ी वजह यह भी है कि यहां ई-भुगतान स्वीकार नहीं किया जा रहा है। संसद के किसी भी काउंटर पर ई-भुगतान की सुविधा नहीं है। एक चाय विक्रेता ने कहा कि यहां ई-भुगतान लेने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। 

उससे जब यह कहा गया कि इसके लिए मुफ्त में एप डाउनलोड करने से ई-भुगतान मिलना शुरू हो जाएगा तो उसने कहा कि हम लोग ऐसा करने के लिए अधिकृत नहीं है। जब लोकसभा अध्यक्ष हमलोगों को इजाजत देंगी, तभी मोबाइल फोन के जरिए भुगतान स्वीकार करेंगे।

Related Tags:

You May Like

Write a comment

Promoted Content