Ford Assembly election results 2017 Akamai CP Plus
  1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. BLOG: यूक्रेन के राजदूत से चोर ने छीना फोन, हमारे लिए शर्म की बात

BLOG: यूक्रेन के राजदूत से चोर ने छीना फोन, हमारे लिए शर्म की बात

भारत में यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलिखा के साथ लाल किले के पास एक ऐसी घटना घटी, जिसे वह शायद ही भुला पाएंगे...

Written by: Vineet Kumar Singh [Updated:23 Sep 2017, 2:11 PM IST]
Representative Image | AP Photo- Khabar IndiaTV
Representative Image | AP Photo

भारत में यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलिखा के साथ लाल किले के पास एक ऐसी घटना घटी, जिसे वह शायद ही भुला पाएंगे। इस हाई सिक्यॉरिटी वाले इलाके में इगोर अपने फोन से सेल्फी ले रहे थे, तभी एक शख्स ने उनका फोन छीन लिया और फरार हो गया। इस घटना से भौंचक्के रह गए इगोर ने इसकी जानकारी तुरंत गृह मंत्रालय और दिल्ली पुलिस कमिश्नर को दी। पुलिस मामले पर कार्रवाई कर रही है।

दिखने में यह भले ही मोबाइल चोरी की एक छोटी-सी घटना लगती है, लेकिन इस घटना से देश का सिर शर्मिंदगी से झुक जाना चाहिए। एक विदेशी राजदूत के साथ यह घटना हुई इसलिए इतनी चर्चा में आई। हम कई बार विदेशी टूरिस्टों के साथ ऐसी छीना-झपटी की खबरें सुनते रहते हैं। जब वे टूरिस्ट अपने देश जाते होंगे तो भारत के बारे में तमाम अच्छी बातों के साथ इस बात का भी जिक्र करते होंगे। ऐसे में हमारे मुल्क की वहां क्या इमेज बनती होगी इस बारे में सोच पाना ज्यादा मुश्किल नहीं है। हम आसानी से सोच सकते हैं कि जब देश की राजधानी, और वह भी एक मशहूर टूरिस्ट स्पॉट के पास ऐसी घटना हो सकती है तो बाकी शहर का क्या हाल होगा।

भीड़ भरे इस इलाके में मोबाइल चोरी की यह कोई पहली घटना नहीं है, लेकिन एक देश के राजदूत के साथ हुई यह घटना देश की राजधानी में सुरक्षा व्यवस्था को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शर्मसार करती है। सिर्फ पुरानी दिल्ली का यह इलाका ही नहीं, बल्कि पूरी दिल्ली इस बीमारी की चपेट में है। मयूर विहार हो या राजीव चौक, प्रगति मैदान हो या लक्ष्मीनगर, रोज ही मोबाइल चोरी की कई वारदातें होती हैं। कई बार चोर पकड़े भी जाते हैं, लेकिन जिन लोगों का फोन चोरी होता है, उनमें से कितनों को वापस मिल पाता है, यह भी एक जांच का विषय है। वह भी तब, जब आज मोबाइल फोन तमाम सुरक्षा फीचर्स के साथ आते हैं।

दिल्ली में मोबाइल चोरी और छीना-झपटी की घटनाएं नासूर बन चुकी हैं। कुछ इलाके तो इतने बदनाम हो चुके हैं कि वहां फोन पर बात करते हुए चलने में भी डर लगता है। क्या पता कब मोटरसाइकिल पर सवार कोई झपटमार आए और मोबाइल फोन ले उड़े। साथ ही ऐसी घटनाओं में चोट लगने का भी काफी खतरा होता है। पुलिस को चाहिए कि ऐसे झपटमारों पर जल्द से जल्द काबू करे ताकि आम नागरिक कम से कम देश की राजधानी में इतना सुरक्षित हो कि उसे राह चलते, किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में इस तरह की छीनाझपटी का शिकार न होना पड़े। हम उम्मीद कर सकते हैं कि इस घटना के बाद पुलिस मोबाइल चोरी की हर घटना को गंभीरता से लेगी, और ऐसे झपटमारों पर काबू पाने का कोई उपाय सोचेगी।

(ब्लॉग लेखक विनीत कुमार सिंह khabarindiatv.com में डेप्युटी न्यूज एडिटर हैं)

You May Like