1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. उड़ीसा: जाने भुवनेश्वर के इस अस्पताल में कैसे लगी आग

उड़ीसा: जाने भुवनेश्वर के इस अस्पताल में कैसे लगी आग

India TV News Desk [ Updated 18 Oct 2016, 09:09:05 ]
उड़ीसा: जाने भुवनेश्वर के इस अस्पताल में कैसे लगी आग - India TV

भवनेशवर के एक बड़े अस्पताल में कल आग लगने से 19 मरीज़ों की मौत हो गई और 104 घायल हो गए जिनका अलग-अलग अस्पताल में इलाज चल रहा है। शाम सवा सात बजे, सम असपताल की दूसरी मंजिल  के एक कोने में dialysis centre  और medicine ICU में आग लगी। आग dialysis center  के दरवाजे के पास एक पाइप के फटने से लगी, अचानक पूरे सेंटर में आग की लपटें फैली और पूरी सेंटर धुआं से भर गया।  ये धुआं पास में लगे medicine ICU  में फैल गया।  उस समय medicine ICU  में 16 मरीज और dialysis centre  में 9 मरीज थे।

अस्पताल के बाकी  wards  आग और धुएं से दूर थे। इन  wards  में उस समय तकरीबन 700 मरीज थे। जब आग लगने की खबर फैली, मरीज और उनके रिश्तेदार अस्पताल के इमारत से बाहर की तरफ भागने लगे लेकिन dialysis centre  और medicine ICU  में फंसे मरीज बाहर नहीं निकल पाए. क्योंकि सारे रास्ते ब्लॉक हो चुके थे।

लोगों ने इन दो केन्द्रों में फंसे 25 मरीजों को बाहर निकालने की पुरजोर कोशिश की, लेकिन दरवाजे नहीं खुले धुएं के कारण लगभग सभी मरीज बेहोश हो चुके थे। तब बचाव दल के सदस्यों ने बाहर से dialysis centre  और  medicine ICU के शीशों को बाहर से तोडकर मरीजों को बेडशीट में लपेटकर खिडकी के रास्ते पहली मंजिल के छज्जे पर उतार कर बाहर निकाला।

मरीजों को बेडशीट में लपेटकर सीढी के रास्ते नीचे उतारकर एम्बुलैन्स में पहुंचाया गया। वहां से उन्हें कैपिटल हॉस्पिटल और आमरी हॉस्पिटल भेजा गया।

फायर ब्रिगेड स्टाफ का कहना है कि मरीजो को जब एम्बलैन्स में पहुंचाया गया, उस समय तक वे जीवित थे, लेकिन दूसरे अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उनकी मौत हो गई।

इस समय कुल 106 मरीज तीन अस्पतालो में admit  हैं - ये हैं कैपिटल हॉस्पिटल, आमरी ह़स्पिटल और कटक एस.सी.बी. मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल। 

Read Complete Article
Related Tags:
loading...