1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. शादी के 23 साल बाद AMU के प्रोफेसर ने Whatsapp पर दिया तीन तलाक, पत्नी ने दी सुसाइड की धमकी

शादी के 23 साल बाद AMU के प्रोफेसर ने Whatsapp पर दिया तीन तलाक, पत्नी ने दी सुसाइड की धमकी

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को गैर कानूनी करार दिया। अदालत के फ़ैसले के बाद ट्रिपल तलाक असंवैधानिक हो गया, बावजूद इसके ये थमने का नाम नहीं ले रहा

Written by: Khabarindiatv.com [Updated:12 Nov 2017, 8:13 PM IST]
शादी के 23 साल बाद AMU के प्रोफेसर ने Whatsapp पर दिया तीन तलाक, पत्नी ने दी सुसाइड की धमकी

अलीगढ़: सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को गैर कानूनी करार दिया। अदालत के फ़ैसले के बाद ट्रिपल तलाक असंवैधानिक हो गया, बावजूद इसके ये थमने का नाम नहीं ले रहा। अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के प्रोफेसर खालिद बिन युसूफ खान के व्हाट्सएप और एसएमएस पर अपनी पत्नी यास्मीन खालिद को ट्रिपल तलाक देने का मामला सामने आया है। प्रोफेसर की पत्नी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इंसाफ़ की फरियाद की है। यास्मीन ने धमकी दी है कि अगर उसके साथ न्याय नहीं हुआ तो वह एएमयू के वीसी के घर के सामने बच्चों संग आत्महत्या कर लेगी।

प्रोफेसर की 'तीन तलाक' वाली हिमाकत

पीड़ित महिला समाजवादी पार्टी की महिला ज़िलाध्यक्ष हैं। प्रोफेसर की पत्नी की शिकायत पर अलीगढ़ पुलिस ने एक्शन लेते हुए केस दर्ज कर लिया है। जिस शौहर के साथ यास्मीन ने 23 साल गुज़ारे, जिसके लिए वो ज़िंदगी गुज़ारने के लिए कश्मीर की वादियां छोड़कर अलीगढ़ आईं वही शौहर ने उम्र की इस दहलीज़ पर रास्ते जुदा कर लिए।

यास्मीन की इस कहानी की सबसे शर्मनाक और हैरतअंगेज़ हकीकत ये है कि उनके शौहर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर हैं। उनके पति खालिद बिन युसूफ़ ख़ान संस्कृत विभाग के चेयरमैन हैं। एक प्रोफ़ेसर, जिससे उम्मीद है कि उसे सुप्रीम कोर्ट के आदेश का मतलब पता होगा। एक प्रोफ़ेसर जिससे उम्मीद है कि उसे देश के क़ानून की बुनियादी जानकारी होगी उस प्रोफेसर ने कानून से सुप्रीम कोर्ट के आदेश को दरकिनार करते हुए अपनी बेगम यास्मीन को तीन तलाक कह दिया।

'इंडिया गॉट टैलेंट' टीवी शो की सेमी फाइनलिस्ट रह चुकी हैं दोनों बेटियां

प्रोफ़ेसर खालिद और यास्मीन के 3 होनहार बच्चे हैं। दोनों बेटियां ईला और इब्रा इंडिया गॉट टैलेंट जैसे टीवी शो की सेमी फाइनलिस्ट रह चुकी हैं। बेटियां बीटेक की पढ़ाई कर रही हैं जबकि बेटा 12वीं की। खुद यास्मीन समाजवादी पार्टी की ज़िलाध्यक्ष हैं लेकिन प्रोफ़ेसर ने न बच्चों का ख्याल रखा और न अपनी बेगम का। आरोप है कि प्रोफ़ेसर दिल्लगी का शौकीन था। यूनिवर्सिटी की लड़कियों के साथ उनके तमाम किस्से थे। किसी ने इसकी शिकायत अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर से की जिसके बाद प्रोफेसर को अपनी पत्नी का शक़ हुआ। इसी बात पर घर में पति-पत्नी में तनातनी हुई और यही तीन तलाक की वजह बनी।

रोती महिला मांगे मोदी-योगी से इंसाफ

30 सितंबर को व्हाट्स एप पर तलाक का मैसेज भेजा फिर महीनेभर बाद तीन तलाक की चिट्ठी और फिर 8 नवंबर को यास्मीन के सामने तीन तलाक कहकर रिश्ता ख़त्म कर लिया। हद है कि एक प्रोफेसर ने सिर्फ़ शक़ की बुनियाद पर अपनी बेगम को तलाक दे दिया। प्रोफेसर को तलाक देने की इतनी जल्दी थी कि उसने व्हाट्सएप पर ही तलाक का मैसेज कर दिया। उनका परिवार आज इंसाफ़ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगा रहा है। अपनी फरियाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुंचाना चाह रहा है। वहीं मीडिया में मामले आने के बाद व्हाट्सएप पर तलाक देने वाले प्रोफेसर कैमरे से छुपते घूम रहे हैं।

You May Like