ford
Breaking now
  • अमेरिका के न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वेयर के पास ब्लास्ट, सबवे लाइन्स को खाली करवाया गया। धमाके की वजह का पता नहीं।
X
  1. You Are At:
  2. होम
  3. गैलरी
  4. मस्ट वाच
  5. देखें: INS अरिहंत नेवी में शामिल, अब पानी से भी ‘न्यूक्लियर अटैक’ कर सकेगा भारत

देखें: INS अरिहंत नेवी में शामिल, अब पानी से भी ‘न्यूक्लियर अटैक’ कर सकेगा भारत

Khabar IndiaTV Photo Desk [Updated: 18 Oct 2016, 7:53 PM IST]
  • भारतीय नौसेना की ताकत अब और ज्यादा बढ़ चुकी है। INS अरिहंत मिलने से भारत दुनिया का ऐसा छठा देश बन गया है जिसने खुद परमाणु पनडुब्बी बनाई है।
    1/8

    भारतीय नौसेना की ताकत अब और ज्यादा बढ़ चुकी है। INS अरिहंत मिलने से भारत दुनिया का ऐसा छठा देश बन गया है जिसने खुद परमाणु पनडुब्बी बनाई है।

  • इस पर K-15 या बीओ-5 शॉर्ट रेंज मिसाइलें तैनात हैं। ये 700 किलोमीटर तक टारगेट हिट कर सकती हैं।
    2/8

    इस पर K-15 या बीओ-5 शॉर्ट रेंज मिसाइलें तैनात हैं। ये 700 किलोमीटर तक टारगेट हिट कर सकती हैं।

  • अरहिंत K-4 बैलिस्टिक मिसाइलों से भी लैस है। इनकी रेंज 3500 किलोमीटर तक है।
    3/8

    अरहिंत K-4 बैलिस्टिक मिसाइलों से भी लैस है। इनकी रेंज 3500 किलोमीटर तक है।

  • इससे पानी के अंदर और पानी की सतह से न्यूक्लियर मिसाइल दागी जा सकती है।
    4/8

    इससे पानी के अंदर और पानी की सतह से न्यूक्लियर मिसाइल दागी जा सकती है।

  • अब तक 5 देशों अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस और चीन के पास ही न्यूक्लियर ऑर्म्ड सबमरीन थीं। अब भारत दुनिया का ऐसा छठा देश बन गया है जिसने खुद परमाणु पनडुब्बी बनाई है।
    5/8

    अब तक 5 देशों अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस और चीन के पास ही न्यूक्लियर ऑर्म्ड सबमरीन थीं। अब भारत दुनिया का ऐसा छठा देश बन गया है जिसने खुद परमाणु पनडुब्बी बनाई है।

  • यह पानी के अंदर से किसी एयरक्राफ्ट को भी यह निशाना बना सकती है।
    6/8

    यह पानी के अंदर से किसी एयरक्राफ्ट को भी यह निशाना बना सकती है।

  • INS अरिहंत को ट्रायल के दौरान हर तरह के परीक्षण से गुजारा गया जिससे कि पानी में यह एक अहम हथियार साबित हो।
    7/8

    INS अरिहंत को ट्रायल के दौरान हर तरह के परीक्षण से गुजारा गया जिससे कि पानी में यह एक अहम हथियार साबित हो।

  • यह 6 हजार टन वजनी न्यूक्लियर सबमरीन है।
    8/8

    यह 6 हजार टन वजनी न्यूक्लियर सबमरीन है।

Next Photo Gallery

रूस से भारत आएगा ‘ट्रायम्फ’, 400 किमी दूर तक दुश्मन विमान को गिराने में है सक्षम

You May Like

Next Photo Gallery