1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. मिसेज इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस प्रतियोगिता में रश्मि उप्पल को सेकेंड रनर अप का खिताब

मिसेज इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस प्रतियोगिता में रश्मि उप्पल को सेकेंड रनर अप का खिताब

रश्मि उप्पल ने आईटीसी वेलकम होटल द्वारका में आयोजित प्रतिष्ठित मिसेज इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस 2017 में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। रश्मि दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव के ए-1 ब्लॉक में रहती हैं।

Khabarindiatv.com [Updated:20 Apr 2017, 11:47 PM IST]
मिसेज इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस प्रतियोगिता में रश्मि उप्पल को सेकेंड रनर अप का खिताब - India TV

नई दिल्ली: रश्मि उप्पल ने आईटीसी वेलकम होटल द्वारका में आयोजित प्रतिष्ठित मिसेज इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस 2017 में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। रश्मि दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव के ए-1 ब्लॉक में रहती हैं। 14 अप्रैल को हुए इस कार्यक्रम में बॉलीवुड की अभिनेत्री महिला चौधरी की गरिमामयी उपस्थिति भी लोगों के आकर्षण का केंद्र रही। दुनियाभर से 3 हजार से ज्यादा महिलाओं ने इस प्रतियोगिता में हिस्सेदारी के लिए आवेदन किया गया था जिसमें से 44 प्रतिभागियों को तीन दिनों तक चलनेवाली प्रतियोगिता के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

रश्मि उप्पल मूलत शिलॉन्ग की रहनेवाली हैं। उन्होंने कई उपलब्धियां हासिल की है जैसे स्कूल और कॉलेज में वे एक ऑलराउंडर के तौर पर जानी जाती थीं। पढ़ाई में टॉपर रहने के साथ ही उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो शिलॉन्ग में बतौर बाल कलाकार, एसएस म्यूजिक चैनल और जी म्यूजिक में बतौर टीव प्रजेंटर काम किया। मिस नॉर्थ ईस्ट प्रतियोगिता में रनर अप रहीं और उन्होंने शास्त्रीय संगीत की ट्रेनिंग भी ली।

वह एक व्यवसायी सर्वजीत उप्पल की पत्नी और सात साल की सुंदर सी बच्ची की मां हैं। उनका बैकग्राउंड डिफेंस का है और उनकी परवरिश की उनकी सफलता में मुख्य भूमिका है। रश्मि अपनी सफलता का पूरा श्रेय अपने परिजनों और दोस्तों को देती हैं।

वर्तमान में रश्मि घर से बच्चों के लिए क्रियेटिव क्लासेज चलाती है, अलग-अलग स्कूलों के लिए फ्रीलांसिंग भी करती हैं और एचसीडब्ल्यूए जैसे एनजीओ, जो महिला एवं बच्चों के तहत सेवा और उत्थान के लिए समर्पित है, के कामों में सक्रिय भूमिका निभाती हैं। उप्पल नेक कामों के लिए धन जुटाने में मदद करने के लिए विभिन्न अभियानों को भी चलाती हैं। हाल में उन्होंने 'सेव द लिटिल हार्ट्स' अभियान के तहत खर्च करने के लिए पर्याप्त राशि देने में मदद की। उप्पल ने कहा कि यह प्रतिष्ठित पदक जीतने के बाद वह इस अवसर का उपयोग समुदाय की सेवा बड़े पैमाने पर करना चाहेंगी।

Related Tags:

You May Like

Write a comment

Promoted Content