1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. गूगल ने कुछ ऐसे मनाया पंचम दा का जन्मदिन

गूगल ने कुछ ऐसे मनाया पंचम दा का जन्मदिन

अपनी मधुर आवाज का जादू चलाने वाले आर.डी बर्मन का आज 77वां जन्मदिन हैं। उनके गीत और उनकी खूबसूरत आवाज में गाए उनके गानों के आज भी लोग कायल हैं।

India TV Entertainment Desk [Updated:27 Jun 2016, 2:59 PM IST]
गूगल ने कुछ ऐसे मनाया पंचम दा का जन्मदिन - India TV

नई दिल्ली: बॉलीवुड में अपनी मधुर आवाज का जादू चलाने वाले आर.डी बर्मन का आज 77वां जन्मदिन हैं। उनके गीत और उनकी खूबसूरत आवाज में गाए उनके गानों के आज भी लोग कायल हैं। ऐसे में गूगल होने कैसे भूल सकता था। दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने सोमवार को महान संगीतकार राहुल देव बर्मन या आर.डी. बर्मन के 77वें जन्मदिन पर डूडल बनाकर संगीत प्रेमियों का दिल जीत लिया। आर.डी. बर्मन का जन्म 27 जून, 1939 को कोलकाता में हुआ था। उन्हें लोग प्यार से पंचमदा कहते थे।

इसे भी पढ़े:- संगीत का जादूगर जो आलोचना होने पर कहता था...कुछ तो लोग कहेंगे..

डूडल में पंचमदा का पोट्रैट बनाया गया, जिसमें वह अपनी चिरपरिचित मुस्कान में नजर आए। पृष्ठभूमि में संगीत की धुनों के प्रतीक और उनके संगीत वाले गानों के कुछ दृश्य भी नजर आए। उनकी संजोई यादगार धुनों में 'चुरा लिया है तुमने जो दिल को' और 'महबूबा महबूबा' व अन्य शामिल हैं। वह अपने संगीत निर्देशक पिता सचिन देव बर्मन के इकलौते बेटे थे।

1961 की 'छोटे नवाब' फिल्म बतौर स्वतंत्र संगीत निर्देशक उनकी पहली फिल्म थी। उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और 'शोले', 'कटी पतंग', 'तीसरी मंजिल', 'यादों की बारात', 'प्यार का मौसम', 'हरे रामा हरे कृष्णा', 'सनम तेरी कसम', 'सत्ता पे सत्ता', 'रॉकी', 'आप की कसम' और कई अन्य अतिसफल फिल्मों में संगीत दिया।

पंचमदा ने लता मंगेशकर, किशोर कुमार और आशा भोसले जैसे दिग्गज गायक-गायिकाओं के गानों में संगीत दिया था। उनका संगीत एवं उनकी संजोई धुनें आज भी संगीत प्रेमियों की हर पीढ़ी को प्रेरणा देती हैं।

पंचमदा का चार जनवरी, 1994 में निधन हो गया। वह उस वक्त 54 साल के थो और उनका करियर चरम पर था।

Write a comment