1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. बॉलीवुड के ये मशहूर निर्देशक चेक बाउंस के आरोप में कोर्ट में हुए पेश

बॉलीवुड के ये मशहूर निर्देशक चेक बाउंस के आरोप में कोर्ट में हुए पेश

बॉलीवुड फिल्मों के लेखक और निर्देशक इकराम अख्तर शुक्रवार को मुरादाबाद के एसीजेएम की अदालत में पेश हुए। इकराम पर आरोप है कि उन्होंने प्रोडक्शन हाउस के मालिक को डेढ़ करोड़ रुपये का चेक दिया था, जो बाउंस हो गया।

India TV Entertainment Desk [Updated:20 May 2017, 7:02 AM]
बॉलीवुड के ये मशहूर निर्देशक चेक बाउंस के आरोप में कोर्ट में हुए पेश - India TV

मुरादाबाद: बॉलीवुड फिल्मों के लेखक और निर्देशक इकराम अख्तर शुक्रवार को मुरादाबाद के एसीजेएम की अदालत में पेश हुए। इकराम पर आरोप है कि उन्होंने प्रोडक्शन हाउस के मालिक को डेढ़ करोड़ रुपये का चेक दिया था, जो बाउंस हो गया। इस मामले में मुरादाबाद की एसीजेएम अदालत ने इकराम अख्तर के खिलाफ वारंट जारी किया था। इकराम ने शुक्रवार को अदालत में समर्पण किया। बाद में उन्हें जमानत मिल गई।

मुरादाबाद के कुलदीप कत्याल का मुंबई में प्रोडक्शन हाउस है। कुलदीप के साथ मिलकर इकराम अख्तर ने फिल्म 'आई लव दुबई' बनाने का निर्णय लिया। फिल्म बनकर तैयार हो चुकी थी, पर आपसी विवाद के कारण रिलीज नहीं हो पाई।

इस बीच जब कुलदीप कत्याल ने इकराम से मिले डेढ़ करोड़ रुपये के चेक को बैंक में भुगतान के लिए दिया, तो वह बाउंस हो गया। इसके बाद कुलदीप ने इकराम के खिलाफ मुरादाबाद एसीजेएम की अदालत में वाद दायर किया था।

इकराम अख्तर ने कई फिल्मों में पटकथा लेखन किया है, जिसमें 'रेडी', 'नो प्रॉब्लम', 'चलो इश्क लड़ाएं', 'चल मेरे भाई', 'छोटा चेतन', 'कुंवारा' जैसी फिल्में शामिल हैं।

पीड़ित प्रॉपर्टी डीलर कुलदीप कत्याल ने बताया, "इरफान अख्तर से मेरी मुलाकात एक समारोह में हुई थी। वहां उन्होंने मुझसे कहा कि आप हमारे साथ डेढ़ करोड़ रुपये इन्वेस्ट कीजिए, जिसमें आपका नाम भी होगा और पैसा भी मिलेगा। मैं उनके झांसे में आ गया। मैंने उन्हें पहले एक करोड़ रुपये ट्रांसफर कर दिए। बाद में 50 लाख रुपये और दे दिए। एक साल बाद जब मैंने उन से अपना पैसा वापस मांगा तो उन्होंने चेक काटकर दे दिया।"

उन्होंने कहा, "मैं उनके साथ एक महीना दुबई भी रहा, जहां फिल्म की शूटिंग चल रही थी। वहां पर कुछ लोग और मिले, जिन्होंने बताया कि इस फिल्म के लिए उनसे भी एक करोड़ रुपये लिए गए हैं। कई और लोग मिले, जिनसे उन्होंने पैसे लिए थे।"

कुलदीप ने बताया, "जब चेक बाउंस होते गए तो मैंने उनसे कहा कि मुझे मेरे पैसे नकद दे दीजिए, लेकिन वह मुझे गुमराह करते रहे। जब मुझे लगा कि मेरे पैसे डूब रहे हैं, तब मैंने अदालत का सहारा लिया।"

उन्होंने आगे कहा, "एक मैं ही हूं जो इनके खिलाफ केस लड़ रहा हूं, नहीं तो पचास ऐसे लोग हैं, जो अपना पैसा पाने के लिए केस नहीं लड़ रहे हैं। इकराम से जिसने भी पंगा लिया, उसे फर्जी रेप के केस में फंसा दिया गया। उनके पास लड़कियों का पूरा गिरोह है। अब मुझे शक होता है कि ये कोई लेखक या निर्देशक है भी या नहीं।"

वहीं, इकराम अख्तर ने अदालत से निकलने पर कहा, "हम दोनों के बीच आपस में कुछ मिस अंडरस्टैंडिंग हो गई थी। अब सभी संदेह दूर हो गए हैं। हम लोगों के बीच अब कोई प्रॉब्लम नहीं है। 'आई लव दुबई' फिल्म को हम बहुत अच्छी तरह से रिलीज करेंगे।

Write a comment