Ford Assembly election results 2017 Akamai CP Plus
  1. You Are At:
  2. होम
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. ‘पद्मावती’ पर इंडस्ट्री का ब्लैकआउट- जानिए किसने क्या कहा?

‘पद्मावती’ पर इंडस्ट्री का ब्लैकआउट- जानिए किसने क्या कहा?

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी, फिल्म की रिलीज सेंसर से सर्टिफिकेट न मिल पाने और देश भर में हो रहे विरोध के बीच रोक दी गई है।

Written by: Jyoti Jaiswal [Updated:26 Nov 2017, 9:17 AM IST]
black out day on padmavati- Khabar IndiaTV
black out day on padmavatiPhoto:PTI

नई दिल्ली: संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी, फिल्म की रिलीज सेंसर से सर्टिफिकेट न मिल पाने और देश भर में हो रहे विरोध के बीच रोक दी गई है। अब इस पर फिल्म इंडस्ट्री ब्लैकआउट डे मनाने जा रही है। वैसे तो ब्लैकआउट का मतलब होता है अंधेरा होना लेकिन फिल्म इंडस्ट्री ब्लैक आउट डे अपना काम रोककर मनाएगी। यानी इस दौरान किसी तरह का कोई काम नहीं होगा। इसे इंडस्ट्री की हड़ताल भी मान सकते हैं आप।

भंसाली के समर्थन और अभिव्यक्ति की आजादी की सुरक्षा के लिए फिल्म इंडस्ट्री आज 15 मिनट का ब्लैकआउट करेगी। जो शाम 04:15 से 04:30 तक होगा। इसमें देशभर की फिल्म इंडस्ट्री से 600 से 700 की संख्या में राइटर, फिल्ममेकर, मेकअप मैन और कई क्षेत्रों के लोग आएंगे जो ‘पद्मावती’ को बैन करने के खिलाफ और अपनी रचनात्मक आजादी में बेदखली की मांग करेंगे। इस मामले में कई फिल्म स्टार्स और बॉलीवुड से जुड़े लोग अपना बयान दर्ज करा चुके हैं। बॉलीवुड से जुड़े लोग भंसाली के समर्थन में खड़े हैं।

black out day on padmavati

अभिनेता कमल हासन ने कहा, "यह समस्या नई नहीं है। मेरी फिल्म 'हे राम' की रिलीज के दौरान कांग्रेस पार्टी के किसी व्यक्ति को फिल्म को पोस्टर देखकर लगा कि यह फिल्म रिलीज नहीं होनी चाहिए। वह फिल्म के बारे में नहीं जानते थे। सेंसर बोर्ड अधिक सतर्क थी। प्रमाणन बोर्ड सेंसर बोर्ड की तरह व्यवहार कर रही थी।"

वहीं अभिनेत्री शबाना आजमी का कहना है- "आलोचना सही है, विरोध सही है, आप पूरी तरह असहमत हो, यह कहना सही है लेकिन यह सही नहीं है कि आप जान से मारने की धमकी दो(दीपिका के संदर्भ में)। एक अभिनेत्री के तौर पर, एक सहकर्मी के तौर पर, फिल्म उद्योग के सदस्य के तौर पर, मुझे लगता है आज जितना बुरा दौर है उतना पहले कभी नहीं था।"

black out day on padmavati

शबाना ने कहा, "कला का मतलब सुंदरता दिखाना या लोरी सुनाना नहीं है। यह हमारी आवाज बुलंद करने के लिए भी है। यह विरोध जताने योग्य बनने के लिए भी है, यह उकसाने के लिए भी है। कला का मतलब सिर्फ मनोरंजन करना नहीं, संतुष्ट करने के लिए नहीं बल्कि उकसाने के लिए भी है।"

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्जा ने ट्विटर पर लिखा कि हम कैसे देश बन गए हैं। अगर महिलाओं को ऐसे ही धमकी दी जाती रही तो हमारी महिलाएं कैसे सुरक्षित महसूस करेंगी। विभिन्न राजपूत समूहों की ओर से रानी पद्मावती के कथित गलत चित्रण के लिए दीपिका के साथ-साथ भंसाली को जान से मारने की धमकी मिली है।

black out day on padmavati

वहीं राजस्थान में बदनोर रियासत की कंवर रानी अर्चना सिंह का कहना है कि संजयलीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' को लेकर विरोध प्रदर्शन बहुत हो गया और अब इसे बंद करना चाहिए। अर्चना सिंह पूर्व के राजपूत राजपरिवार से आती हैं और इनकी शादी बदनोर रियासत के कंवर रणजय सिंह से हुई है।

अर्चना सिंह कहती हैं कि वह पहले फिल्म देखना पसंद करेंगी, उसके बाद उसपर अपनी प्रतिक्रिया देंगी। उनका कहना है कि हर किसी को 'असहिष्णु' होने के बजाय ऐसा ही करना चाहिए।

You May Like