1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. ...तो इसलिए खुशमिजाज रहती हैं अनुष्का शर्मा

...तो इसलिए खुशमिजाज रहती हैं अनुष्का शर्मा

अनुष्का शर्मा इन दिनों अपनी आगामी ‘फिल्लौरी’ को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। इससे पहले उन्हें कुछ वक्त पहले ही रिलीज हुई फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ में शानदार अभिनय करते हुए देखा गया था। अनुष्का शर्मा अच्छी तरह से बयां की...

India TV Entertainment Desk [Published on:28 Nov 2016, 12:26 PM IST]
...तो इसलिए खुशमिजाज रहती हैं अनुष्का शर्मा - India TV

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा इन दिनों अपनी आगामी ‘फिल्लौरी’ को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। इससे पहले उन्हें कुछ वक्त पहले ही रिलीज हुई फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ में शानदार अभिनय करते हुए देखा गया था। अनुष्का शर्मा अच्छी तरह से बयां की गई कहानी की ताकत जानती हैं और उनका कहना है कि सिनेमा से उनका प्यार उन्हें प्रेरित करता रहता है। उन्होंने साथ ही कहा कि वह असुरक्षा को अपने फैसले को प्रभावित करने नहीं देतीं। यह साल अनुष्का के लिए काफी अच्छा रहा क्योंकि ‘सुल्तान’ और ‘ऐ दिल है मुश्किल’ के किरदारों “अरफा” और “अलीजे” के लिए समीक्षकों ने उनकी काफी सराहना की और दोनों ही फिल्में बड़ी हिट साबित हुईं।

इसे भी पढ़े:- अनुष्का ने कहा, हमेशा अद्भुत होता है शाहरुख के साथ काम करना

अनुष्का अपनी आगामी फिल्मों ‘फिल्लौरी’ और ‘द रिंग’ की रिलीज का इंतजार कर रही हैं। जहां ‘फिल्लौरी’ अनुष्का के खुद की प्रोडक्शन कंपनी की दूसरी फिल्म है, वहीं इम्तियाज अली के निर्देशन में बन रही ‘द रिंग’ में वह तीसरी बार शाहरुख खान के साथ काम कर रही हैं। अनुष्का ने कहा कि वह खुद को किसी दायरे में सीमित नहीं करना चाहती क्योंकि चाहे वह अभिनय हो या फिल्मों का निर्माण, वह हमेशा आने वाली चीजों को लेकर उत्साहित रहती हैं।

उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा, “असुरक्षाओं के आने का एक रास्ता होता है क्योंकि ऐसे काफी लोग हैं जो आपसे कहते हैं कि और फिल्में करो और फिल्म उद्योग का चलन है कि आप दिखें नहीं तो जेहन से बाहर चले जाते हैं। इसलिए आपको खुद को प्रेरित करना होता है और दूसरे जो कर रहे हैं, उससे खुद को अप्रभावित रखना होता है।“

अनुष्का ने कहा, “मैं बिना किसी डर के काम करने की कोशिश करती हूं। कई बार हम डर के कारण अपने फैसले लेने लगते हैं। मैंने अपने साथ ऐसा होने नहीं दिया। इसलिए मैं खुशमिजाज रहती हूं और जीवन में अच्छा कर रही है, साथ ही मुझे लगता है कि मैं एक इंसान के तौर पर भी परिपक्व हो रही हूं क्योंकि यह मेरे लिए उतना ही महत्वपूर्ण है।“

You May Like

Write a comment

Promoted Content