1. Home
  2. विदेश
  3. अमेरिका
  4. मैनहट्टन घटना के बाद ट्रंप ने...

मैनहट्टन घटना के बाद ट्रंप ने दिए विदेशी यात्रियों की गहन जांच के आदेश

न्यूयार्क सिटी के लोअर मैनहट्टन में ट्रक से लोगों को कुचल डालने की घटना के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज अमेरिका आने वाले यात्रियों की और अधिक गहन जांच के आदेश दिए हैं।

Edited by: India TV News Desk 01 Nov 2017, 10:01:26 IST
India TV News Desk

वाशिंगटन: न्यूयार्क सिटी के लोअर मैनहट्टन में ट्रक से लोगों को कुचल डालने की घटना के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज अमेरिका आने वाले यात्रियों की और अधिक गहन जांच के आदेश दिए हैं। लोअर मैनहट्टन में एक व्यक्ति ने ट्रक से कुचल कर कम से कम आठ लोगों की जान ले ली और 11 अन्य को घायल कर दिया। अमेरिका ने इस घटना को आतंकवादी कृत्य करार दिया है। न्यूयार्क में यह हमला 11 सितंबर 2001 को हुए आतंकी हमले के बाद सर्वाधिक भयावह हमला है। बताया जाता है कि 29 वर्षीय संदिग्ध सेफुलो सैपोव उजबेकिस्तान का रहने वाला है। उसे पहले पेट में गोली मारी गई और फिर गिरफ्तार कर लिया गया। (अमेरिकी विरोध के चलते इस काम के लिए पाकिस्तान की मदद कर रहा है चीन)

ट्रंप ने ट्वीट किया ‘‘मैंने गृह सुरक्षा विभाग को हमारे गहन जांच कार्यक्रम को और कड़ा करने के आदेश दिए हैं।’’ राष्ट्रपति ने अपने ट्विटर अकाउंट का बैनर भी बदल कर न्यूयार्क स्काइलाइन कर दिया है। उनके प्रशासन ने पिछले सप्ताह की घोषणा की थी कि 120 दिन के प्रतिबंध के बाद वह शरणार्थियों को स्वीकार करना बहाल करेगा। हालांकि ‘‘जोखिम वाले’’ 11 देशों से आने वालों पर रोक कायम रहेगी। इन 11 देशों में से ज्यादातर देश मुस्लिम बहुल हैं। हमले के बाद एक बयान में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा ‘‘हमारी संवेदनाएं न्यूयार्क सिटी में आज हुए आतंकी हमले के पीड़ितों तथा उनके परिजनों के साथ हैं।’’ इससे पहले, ट्विटर पर ट्रंप ने हमले की निंदा करते हुए कहा ‘‘ हमें आईएसआईएस को वापस आने नहीं देना चाहिए।’’

राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘‘एनवाईसी (न्यूयॉर्क सिटी) में बहुत बीमार और विक्षिप्त लग रहे एक व्यक्ति ने एक और हमला किया। कानून प्रवर्तन एजेंसियां इस पर गहरी नजर रख रही हैं।’’ उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘आईएसआईएस को पश्चिम एशिया और अन्यत्र स्थानों पर शिकस्त देने के बाद हमें उन्हें हमारे देश में वापस आने या घुसने की इजाजत नहीं देनी चाहिए। बस बहुत हुआ!’’ न्यूयार्क सिटी के मेयर बिल दे ब्लासियो ने बताया कि इस घटना की जांच आतंकवादी हमले के तौर पर की जा रही है। न्यूयार्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने बताया कि ऐसा कोई सबूत नहीं है जिससे बड़े खतरे या साजिश का संकेत मिल सके।