1. Home
  2. विदेश
  3. अमेरिका
  4. अबु सईद के मारे जाने के...

अबु सईद के मारे जाने के बाद अफगानिस्तान में कमजोर पड़ गया है ISIS-K

Edited by: India TV News Desk 18 Jul 2017, 10:50:20 IST
India TV News Desk

वाशिंगटन: पेंटागन ने कहा है कि अमेरिकी सैनिकों के हवाई हमले में आतंकी समूह के प्रमुख अबु सईद के मारे जाने के बाद इस्लामिक स्टेट खोरासन आईएसआईएस-के ने अफगानिस्तान में अपनी पकड़ खो दी है। हालांकि पेंटागन का अनुमान है कि अफगानिस्तान में अभी भी आईएसआईएस के सैकड़ों आतंकी छिपे हो सकते हैं। पेंटागन के प्रवक्ता नौसेना कैप्टन जेफ डेविस ने कहा, हमें नहीं लगता कि अब अफगानिस्तान में 1,000 से ज्यादा आतंकी होंगे। हालांकि नंगेर प्रांत में उनका कब्जा है और वहां निश्चित रूप से लड़ाके हैं, लेकिन अब उनका ज्यादातर समय अपने आप को बचाने की कोशिश में निकल रहा है। (परमाणु समझौते पर अमेरिका दे रहा ईरान को मिलेजुले संकेत)

डेविस ने कल बगैर कैमरे वाली पत्रकार वार्ता में कहा, पिछले सप्ताह एक हवाई हमले में आईएसआईएस-के के प्रमुख अबू सईद की हत्या से उनकी विस्तार योजनाएं बाधित हो गयी हैं। उन्होंने कहा, उसकी मौत से अफगानिस्तान में आतंकी समूह के विस्तार की योजनाएं बाधित होंगी। उन्होंने बताया कि पिछले एक साल में यह तीसरी बार है, जब अमेरिकी सेना के हमलों में आईएसआईएस-के समूह का मौजूदा नेता मारा गया है।

डेविस ने कहा, 11 जुलाई को कोनार में हवाई हमले के दौरान मारा गया अबु सईद केवल पिछले छह सप्ताह से अफगानिस्तान में आईएसआईएस-के का प्रमुख था। वह परिचालन निर्देश जारी करता था, वित्तीय प्रबंधन और पूरे अफगानिस्तान में आईएसआईएस के अभियान के लिये प्राथमिक तौर पर निर्णायक के तौर पर काम करता था।