1. Home
  2. विदेश
  3. अमेरिका
  4. क्रांतिकारी नेता कास्त्रो के 'जबरदस्त प्रभाव'...

क्रांतिकारी नेता कास्त्रो के 'जबरदस्त प्रभाव' को इतिहास आंकेगा: ओबामा

India TV News Desk 27 Nov 2016, 10:09:11
India TV News Desk

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने क्यूबा के क्रांतिकारी नेता फिदेल कास्त्रो के निधन के बाद शनिवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि दुनिया पर क्यूबा के इस क्रांतिकारी नेता के 'जबरदस्त प्रभाव' को इतिहास आंकेगा। ओबामा ने कहा कि कास्त्रो के निधन पर अमेरिका क्यूबा के लोगों के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाता है। कास्त्रो का शुक्रवार रात को 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि कास्त्रो ने 1959 में सत्ता संभालने के बाद अनगिनत तरीकों से क्यूबा और यहां के लोगों के जीवन को बदल दिया। फिदेल का निधन क्यूबा के लोगों और कैरीबियाई द्वीप और अमेरिका के लिए एक भावनाओं का क्षण है। ओबामा ने कहा, "इतिहास लोगों और उनके आसपास के विश्व पर फिदेल के प्रभाव को न्यायोचित करेगा।" ओबामा ने कहा कि अमेरिका और क्यूबा के बीच संबंध दशकों से गहन राजनीतिक समझौतों का रहा है। दोनों देशों के बीच पूर्ण राजनयिक संबंधों की बहाली 2014 के अंत में शुरू हुई।

ओबामा ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों को सामान्य करने का उद्देश्य दोनों पक्षों को सिर्फ मतभेदों से ही परिभाषित नहीं करना बल्कि पड़ोसी और मित्र देशों के रूप में साझा की गई चीजों से भी है, जिसमें पारिवारिक संबंध, संस्कृति, वाणिज्य और सामान्य मानवता शामिल है। ओबामा पहले अमेरिकी राष्ट्रपति रहे जिन्होंने 88 वर्षो में पहली बार मार्च में क्यूबा की यात्रा की। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति राउल कास्त्रो (फिदेल के छोटे भाई) से मुलाकात की थी।