1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. चीन: शी चिनफिंग को मिला दूसरा...

चीन: शी चिनफिंग को मिला दूसरा कार्यकाल, यूं और ताकतवर हुए चीनी राष्ट्रपति

संविधान में अपना नाम और अपनी विचारधारा के शामिल होने के बाद शी चिनफिंग अब पार्टी के संस्थापक माओ त्से तुंग और उनके उत्तराधिकारी देंग शियोपिंग के समकक्ष हो गए हैं...

Edited by: Bhasha 24 Oct 2017, 14:03:18 IST
Bhasha

बीजिंग: जैसी कि उम्मीद की जा रही थी, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को दूसरे कार्यकाल के लिए भी चुन लिया गया है। यही नहीं, शी का नाम और उनकी विचारधारा को शामिल करने किए लिए चीन ने अपने संविधान में संशोधन भी किया। दूसरे कार्यकाल के लिए चुने जाने के बाद शी पहले से कहीं ज्यादा ताकतवर होकर उभर सकते हैं। चीन की सााधारी कम्युनिस्ट पार्टी ने मंगलवार को उनके दूसरे कार्यकाल की मंजूरी दी। इस प्रकार शी चिनफिंग अब पार्टी के संस्थापक माओ त्से तुंग और उनके उत्तराधिकारी देंग शियोपिंग के समकक्ष हो गए हैं।

माओ और देंग के समकक्ष पहुंचे शी
हफ्ते भर चली कम्युनिस्ट पार्टी की कांग्रेस के समापन के मौके पर पार्टी के संविधान में शी की अवधारणा एक नए युग के लिए चीनी विशेषताओं के साथ समाजवाद को शामिल किया गया। पार्टी की कांग्रेस की बैठक 5 साल में एक बार होती है। 19वीं CPC नेशनल कांग्रेस के एक प्रस्ताव के मुताबिक, CPC के संविधान में संशोधन को मंजूरी मिलने से 64 वर्षीय शी की विचारधारा पार्टी के दिशा निर्देश की नई घटक होगी। शी का नाम उनकी विचारधारा के साथ शामिल करने से वह माओ और देंग के समान राजनीतिक लीग में आ गए हैं। माओ और देंग वे चीनी नेता हैं जिनके नाम और विचार पार्टी संविधान में शामिल किए गए थे।

नेताओं के साथ शी। (AP Photo)

समर्थकों की भी हुई नियुक्ति
शी ने ‘ग्रेट हॉल ऑफ द पीपल’ में पार्टी प्रतिनिधियों से कहा, ‘चीनी लोगों और राष्ट्र का भविष्य बहुत शानदार और उज्ज्वल है।’ ग्रेट हॉल ऑफ द पीपल चीनी कम्युनिस्ट नेतृत्व का सत्ता केंद्र है। उन्होंने कहा, ‘इस महान वक्त में, हम और आत्मविश्वासी तथा गौरवान्वित महसूस करते हैं। साथ ही साथ हम भारी जिम्मेदारियों की भावना को भी गहराई से महसूस करते हैं।’ कांग्रेस में 2,350 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। बैठक में राष्ट्रपति शी के पांच साल के दूसरे कार्यकाल को मंजूरी दी गई और ऐसे कई नेताओं को नियुक्त किया गया जिन्हें शी का समर्थन है।

बुधवार को चुनी जाएगी नई स्टैंडिंग कमिटी
CPC ने आगामी 5 वर्षों तक पार्टी का नेतृत्व करने के लिए नई केंद्रीय कमेटी को चुना है। 19वीं CPC केंद्रीय कमेटी बुधवार को पूर्ण अधिवेशन में पोलितब्यूरो, पोलितब्यूरो स्टैंडिंग कमेटी और महासचिव का निर्वाचन करेगी। पोलितब्यूरो देश में शासन की शीर्ष परिषद है। कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के पदक्रम में शी और प्रधानमंत्री ली किक्यांग (62) क्रमश: पहले और दूसरे नंबर पर हैं। दोनों ही 5-5 साल के दो कार्यकाल के आधार पर शीर्ष नेतृत्व पर बने रहेंगे। देश पर शासन करने वाली पार्टी की 7 सदस्यीय स्टैंडिंग कमिटी के लिए 5 नए सदस्य चुने जाएंगे। नई स्टैंडिंग कमिटी का खुलासा बुधवार को किया जाएगा जब चुने गए सभी नेता सीधे प्रसारण के दौरान मीडिया के सामने औपचारिक तौर पर पेश होंगे।

कांग्रेस का नजारा। (AP Photo)

तीसरे कार्यकाल पर भी है शी की नजर?
शी और ली ने वर्ष 2012 में सत्ता संभाली थी और दोनों नेता 2022 तक सत्ता में बने रहेंगे। शी को हाल के वक्त में चीन का सबसे शक्तिशाली नेता समझा जाता है। वह राष्ट्रपति होने के साथ-साथ पार्टी और सेना के भी प्रमुख हैं। समझा जाता है कि शी वर्ष 2022 में अपना दूसरा कार्यकाल पूरा करने के बाद रिटायर होंगे। बहरहाल, इस तरह की भी अटकलें हैं कि वह रिटायरमेंट की परंपरा को तोड़ सकते हैं और पार्टी में अपनी शक्तिशाली स्थिति को देखते हुए तीसरे कार्यकाल के लिए विचार कर सकते हैं। पूर्व चीनी नेता हू जिंताओ और जियांग जेमिन ने भी अपने विचारों को संविधान में शामिल किया था लेकिन माओ और देंग के विपरीत, उनके नाम शामिल नहीं किए गए थे।