1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. अमेरिकी एजेंसी की रिपोर्ट में खुलासा,...

अमेरिकी एजेंसी की रिपोर्ट में खुलासा, नॉर्थ कोरिया के पास 253 एटम बम

हाल ही में एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग ने 253 एटम बम रखे है। ऐसा एटम बम जिसमें अमेरिका की बर्बादी का ब्लूप्रिंट सनकी तानाशाह ने छिपा रखा था।

Edited by: India TV News Desk 24 Oct 2017, 23:33:10 IST
India TV News Desk

हाल ही में एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग ने 253 एटम बम रखे है। ऐसा एटम बम जिसमें अमेरिका की बर्बादी का ब्लूप्रिंट सनकी तानाशाह ने छिपा रखा था। यकीन नहीं होता कि किम जोंग एक दो बार नहीं बल्कि 253 बार धरती को एटम बम से हिलाने का प्लान तैयार कर चुका है आज तक नॉर्थ कोरिया और उसके सुप्रीम कमांडर की सैन्य ताकत का किसी को सही जानकारी नहीं है, यानी सिर्फ आशंका की बिनाह पर बारूदी तानाशाह की ताकत को आंका जाता है, दरअसल नॉर्थ कोरिया इस धरती पर होते हुए भी पूरी दुनिया से कटा हुआ है, और सनकी तानाशाह की इजाजत के बिना कोई खबर इस मुल्क से बाहर नहीं आती। (दुनिया को दहलाने की किम जोंग की साजिश, बना रहा प्‍लेग और चेचक बम)

नॉर्थ कोरिया किसी भी वक्त उठा सकता है आत्मघाती कदम

3 सितंबर 2017 को धरती हिलाने वाले इस हाइड्रोजन बम का परीक्षण करके सनकी तानाशाह किम जोंग ने अपनी ताकत का एहसास पूरी दुनिया को करा दिया था, जबकि इसके पहले 5 मर्तबा तानाशाह एटम बम का परीक्षण कर चुका था। ऐसे में साफ है कि किम जोंग के पास हाइड्रोजन और एटम बम है, लेकिन ये पहली बार खुलासा हुआ है कि किम जोंग के पास कितने एटम बम है। पूरी दुनिया के लिए खतरा बहुत बड़ा है, क्योंकि किम जोंग के हाथ में सिर्फ एटम बम ही नहीं है, बल्कि इसे दागने के लिए ऐसे मिसाइले हैं जो 15 हजार किलोमीटर दूर तक तबाही मचा सकती है। तो क्या नॉर्थ कोरिया किसी भी वक्त आत्मघाती कदम उठा सकता है, क्या महायुद्ध के हालात बने तो किम जोंग की एटमी मिसाइलें आधी दुनिया को तबाह कर देगी। आखिर सनकी तानाशाह के दिमाग में क्या चल रहा है, क्योंकि अमेरिका राष्ट्रपति एयरफोर्स को एटमी हमले के लिए 24 घंटे अलर्ट का ऑर्डर जारी कर चुके है, यानी एटमी युद्ध से मजह एक कदम दूर है दुनिया।

सिर्फ 9 मुल्कों के पास मौजूद है एटम बम

जितने एटम बम नॉर्थ कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग के पास आज की तारीख में मौजूद है, उतने एटम बम तो ब्रिटेन, भारत, इजराइल, पाकिस्तान और चीन के पास भी नहीं है। मुश्किल है यकीन करना कि अमेरिका और रूस के बाद एटम बम का सबसे बड़ा जखीरा सनकी तानाशाह किम जोंग के पास मौजदू है। अमेरिका की डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी के मुताबिक नॉर्थ कोरिया के पास 253 से ज्यादा एटम बम हो सकते है। ऐसे सूरत में सनकी तानाशाह अपनी मिसाइलों से एक साथ दुनिया के कई मुल्कों पर एटमी हमला करने सकता है ये परमाणु बम है। दुनिया का सबसे विनाशक बम, यही वजह है कि सिर्फ नौ मुल्कों के पास एटम बम मौजूद है। चौंकाने वाली बात ये है कि इस फेहरिस्त में सनकी तानाशाह का मुल्क नॉर्थ कोरिया भी शामिल है।

आपको बता दे कि नॉर्थ कोरिया ने चुपचुक तरीके से परमाणु बम को तैयार किया साल 2004 में इरानी वैज्ञानिक अब्दुल कादिर खान से खुलासा किया था कि 1999 में जब वो नॉर्थ कोरिया के दौरे पर गए थे उस वक्त तक तीन परमाणु बम बनाए जा चुके थे। जबकि अमेरिकी डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी ने 22 साल पहले कांग्रेस को भेजी गई रिपोर्ट में जानकारी दी थी कि साल 2010 तक नॉर्थ कोरिया अपनी एटम बम की संख्या को 253 तक बढ़ा सकता है। ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि किम के राज में नॉर्थ कोरिया 253 के आकड़े को भी पार कर चुका होगा। यानी आज की तारीख में सनकी तानाशाह किम जोंग के बारूद की ढेर पर बैठी है दुनिया।किसी भी वक्त सनकी किम कयामत की वजह बन सकता है।

नॉर्थ कोरिया के 30 अलग-अलग ठिकानों पर 60 एटमी मिसाइलें तैनात

नॉर्थ कोरिया के सनकी तानाशाह किम के पास 253 एटम बन हो सकते है, जबकि ब्रिटेन के पास सिर्फ 215 परमाणु बम एटम बम है, यानी ब्रिटेन से 38 एटम बम ज्यादा है। वही चीन के पास 250 एटम बम है, यानी किम जोंग से 3 कम। अगर बात पाकिस्तान की करें तो 100 एटम है, जबकि तानाशाह के पास 253- यानी 153 एटम बम कम है। वहीं इजरायल के पास 80 एटम बम है, यानी 173 साउथ कोरिया की खुफिया एजेंसी के मुताबिक सनकी तानाशाह ने नॉर्थ कोरिया के 30 अलग-अलग ठिकानों पर 60 एटमी मिसाइलें तैनात कर रखी है, जबकि 193 एटम बम का सीक्रेट सिर्फ और सिर्फ सनकी तानाशाह के दिल में दफ्न है। ये एटम बम की ताकत है, जिसका गुरूर सनकी तानाशाह किम जोंग के सिर चढ़कर बोल रहा है।

नॉर्थ कोरिया कर सकता है अमेरिका को खत्म

नॉर्थ कोरिया एक परमाणु शक्ति से लैस मुल्क है। अगर ट्रंप सोचता है कि एटमी ताकत से लैस नॉर्थ कोरिया को घुटने के बल ला देगा, तो अमेरिका हमें समझने में बहुत बड़ी गलती कर रहा है।अगर बात युद्ध तक पहुंच चुका है तो उसके पीछे गलती अमेरिका की है। हम बहुत सालों से तैयारी कर रहे थे। हमने अपने मुल्क में अमेरिकी सेना के कई जासूस पकड़े और हम मानते है कि एलान-ए-जंग का बिगुल बज चुका है। अमेरिका बहुत दिनों से सुपरपॉवर बना हुआ है, और उसे नॉर्थ कोरिया ही खत्म कर सकता है। अमेरिका के नाम सनकी तानाशाह किम की खुली चुनौती है और किम की इस धमकी के पीछे सबसे बड़ी वजह है एटम बम। दरअसल सनकी तानाशाह से निपटने के लिए अमेरिका एक एक कदम फूंक-फूंक कर रखना पड़ रहा है, क्योंकि किम के पास खोने के लिए कुछ नहीं है, जबकि अमेरिका  के पास बहुत कुछ अगर अमेरिका ने पहले हमला कर दिया तो परिणाम बहुत भयावक होंगे।

नॉर्थ कोरिया से डर गया अमेरिका

नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग, अमेरिका की इसी कमजोर नस को बार-बार दबा रहा है, और ट्रंप के लिए सनकी किम ऐसा सिरदर्द बन चुका है, जिसे ना तो निगला जा सकता है, और ना ही उगला जा सकता है। ऐसे में किम जोंग की सनक को देखते हुए ट्रंप ने एयरफोर्स को हाईअलर्ट पर रहने का आदेश जारी कर दिया है। जाहिर है- दोनों मुल्कों के एटम बम हमले के लिए तैयार है, दोनों मुल्क किसी भी वक्त एक दूसरे पर हमला कर सकते है। मौजूदा हालात को देखकर ये कहीं से नहीं लगता कि नॉर्थ कोरिया का सनकी तानाशाह झुकने को तैयार होगा, यानी इस जुबानी जंग को एटमी जंग में बदलने से कोई नहीं रोक सकता। हां अब देखना ये होगा कि पहले हमला कौन करता है।