1. Home
  2. टेक
  3. न्यूज़
  4. मोबीक्विक ने लॉन्च किया अपना...

मोबीक्विक ने लॉन्च किया अपना नया ऐप मोबीक्विक 'लाइट'

India TV News Desk 28 Nov 2016, 18:40:25
India TV News Desk

नई दिल्ली: भारतीय मोबाइल वॉलेट दिग्ग्ज-मोबीक्विक ने सोमवार को देश का सबसे हल्का मोबाइल वॉलेट मोबीक्विक 'लाइट' ऐप लांच किया। यह पूरे भारत में रिटेलरों और दुकानदारों को आसानी से भुगतान हासिल करने में मददगार है। एक एमबी तक के आकार वाला एप (जो एज कनेक्शन पर आसानी से काम करते हैं) होने की वजह से मोबीक्विक 'लाइट' भारत में उन मोबाइल उपयोगकर्ताओं की जरूरतें पूरी करेगा, जिन्हें स्लो डेटा कनेक्टिविटी की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इस वजह से वे डिजिटल भुगतान तक आसानी से पहुंच बनाने में विफल रहते हैं। मोबाइल उपयोगकर्ता इस एप को महज एक मिस्ड कॉल के साथ डाउनलोड कर सकते हैं और अपनी ईमेल आईडी डाले बगैर सिर्फ अपने मोबाइल नंबर के साथ ही इस पर साइन-अप कर सकते हैं। कम्पनी ने मिस्ड कॉल के लिए जो नम्बर दिया है वह 8097180971 है।

मोबीक्विक के सह-संस्थापक बिपिन प्रीत सिंह ने कहा, "कनेक्टिविटी की समस्या की वजह से भारत में बड़ी तादाद में लोग डिजिटल भुगतान तक पहुंच नहीं बना पाते हैं। 25 करोड़ स्मार्टफोन और 50 प्रतिशत से कम इंटरनेट पहुंच के साथ भारत अभी इस मामले में काफी पीछे है और इस वास्तविकता का विपरीत प्रभाव ताजा नोटबंदी अभियान से लोगों पर देखने को मिला है।" उन्होंने कहा, "इंडिया और भारत के बीच खाई को पाटने के लिए हमने मोबीक्विक 'लाइट' लांच किया है। इस सप्ताह के अंत तक यह एप सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होगा और जल्द ही मोबीक्विक लाइट बगैर इंटरनेट कनेक्टिविटी के भी काम करेगा। इससे लोगों को वॉलेट भुगतान में आ रही समस्याओं को दूर करने में मदद मिलेगी, चाहे यह समस्या भाषा, कनेक्टिविटी या स्मार्टफोन की गुणवत्ता से संबंधित हो।"

मोबीक्विक 'लाइट' को दुकानदार या रिटेलर द्वारा किसी एंड्रॉयड स्मार्टफोन से 80971-80971 पर मिस्ड कॉल देकर बगैर ईमेल आईडी के और गूगल प्ले स्टोर अकाउंट के बगैर आसानी से डाउनलोड किया जा सकेगा। इस नंबर पर मिस्ड कॉल देने के बाद उपयोगकर्ता को इस एप को डाउनलोड करने के लिए एक लिंक प्राप्त होगा। जब उपयोगकर्ता इस लिंक पर क्लिक करेगा तो उसके सामने डाउनलोड पेज खुलेगा, जिसमें एप को 2जी/एज कनेक्शन पर भी 30 सेकेंड के अंदर डाउनलोड किया जा सकेगा।

उपयोगकर्ता को उसके बाद ओटीपी मिलता है और वह तुरंत मोबीक्विक प्लेटफॉर्म पर पंजीकृत हो जाता है। यह एप पुराने एंड्रोयड ओएस वाले एंड्रोयड स्मार्टफोन पर भी आसानी से काम करेगा। कंपनी इस एप का ऑफलाइन वर्जन भी लांच करेगी। कंपनी पूरे भारत में असंगठित रिटेलरों तक पहुंच बनाने के लिए अपने ऑन-ग्राउंड कर्मियों की संख्या में भी इजाफा कर रही है और उन्हें मोबीक्विक 'लाइट' के बारे में अवगत करा रही है।