1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. हमने हर किसी को गलत साबित...

हमने हर किसी को गलत साबित किया: इमाद वसीम

IANS 20 Jun 2017, 14:36:31 IST
IANS

लंदन: भारत को हराकर पहली बार आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम करने वाली पाकिस्तान टीम के हरफनमौला खिलाड़ी इमाद वसीम ने कहा कि उनकी टीम ने हर किसी को गलत साबित करते हुए खिताब जीता है। इमाद ने अपनी टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर की भी तारीफ की और उन्हें विश्व स्तर का गेंदबाज बताया है। 

पाकिस्तान ने रविवार को खेले गए चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही भारत को 180 रनों से करारी शिकस्त दी। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 339 रनों विशाल लक्ष्य रखा जिसके सामने भारत का मजबूत और गहरा बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह से ढह गया और टीम 30.3 ओवरों में 158 रनों पर ही ढेर हो गई। 

आमिर ने रोहित शर्मा और विराट कोहली के दो अहम विकेट लेकर भारत को वो शुरुआती झटके दिए जिससे वह उबर नहीं पाई। 

ईएसपीएनक्रिकइंफो ने इमाद के हवाले से लिखा है, "यह तुक्का नहीं है। हमारी टीम शानदार है। इस समय विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक। मैं नहीं समझता की हम अप्रत्याशित टीम हैं। हमने अपने आखिरी के चार मैच जीते और सभी को गलत साबित किया।"

उन्होंने कहा, "हमने विश्व की नंबर-1 टीम दक्षिण अफ्रीका को हराया। इसके बाद हमें विश्वास हो गया कि हम किसी भी टीम को हरा सकते हैं।"

इमाद ने चैम्पियंस ट्रॉफी में प्रदर्शन के लिए पाकिस्तन सुपर लीग (पीएसएल) के अनुभव और टीम प्रबंधन द्वारा जताए गए आत्मविश्वास को श्रेय दिया है। 

उन्होंने कहा, "पीएसएल हमारे लिए बड़ा टूर्नामेंट है। आप उसमें खेलते हुए बेशक सुधार करते हैं। आप फखर जमान, शादाब खान के अलावा बाकी के युवा खिलाड़ियों को देखिए जो टीम में आए और इस बड़े टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया।"

उन्होंने कहा, "टीम प्रबधंन को भी श्रेय जाता है। मैं मिकी आर्थर और सरफराज अहमद के मार्गदर्शन में खेलने को लेकर अपने आप को सौभाग्याशाली मानता हूं। यह दोनों बेहद अच्छा काम कर रहे हैं। यह दोनों मिलकर काम कर रहे हैं। आर्थर ने पूरे टूर्नामेंट के दौरान हमारा समर्थन किया। हम जब हारे तब भी। उस समय हमसे कहा कि हमें वापसी करनी होगी।"

आमिर के बारे में इमाद ने कहा, "मुझे आमिर में हमेशा विश्वास रहता है। मैं 2007 से उसके साथ खेल रहा हूं और अंडर-19 टीम में उसका कप्तान भी रह चुका हूं। मैं उसके सबसे अच्छे दोस्तों में से एक हूं। हम उसे टीम में चाहते थे। वह हमेशा से विश्व स्तर का गेंदबाज और मैच विजेता खिलाड़ी रहा है।"