1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. क्यों रोहित शर्मा बने कंगारुओं के...

क्यों रोहित शर्मा बने कंगारुओं के लिए खौफ का दूसरा नाम

Written by: Shradha Bagdwal 14 Sep 2017, 15:05:15 IST
Shradha Bagdwal

नई दिल्ली: टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज़ रोहित शर्मा को कंगारू गेंदबाज कुछ ज्यादा ही रास आते हैं तभी तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रोहित के बल्ले से रनों की बारिश जमकर होती है। अबतक खेले 163 वनडे मैचों में रोहित ने 43.46 की औसत से 5737 रन बनाए हैं। जबकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रोहित का यही औसत बढ़कर 68.26 हो जाता है। इतना ही नहीं रोहित ने वनडे में 13 में से 5 शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही जड़े हैं। जिसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 23 वनडे मैचों में रोहित ने 1297 रन बानए हैं।

साल 2017 में रोहित का प्रदर्शन

साल 2017 में अबतक रोहित शर्मा के प्रदर्शन की बात करें तो इस साल खेले 10 वनडे मैचों में रोहित ने 75.75 की बेहतरीन औसत से 606 रन बनाए हैं। इस साल रोहित के बल्ले से 3 शतक और 3 अर्धशतक भी निकले हैं।

ऑस्ट्रेलियाई धरती पर टीम इंडिया के सबसे कामयाब बल्लेबाज़

ऑस्ट्रेलियाई धरती पर सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में रोहित शर्मा पूर्व दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण को भी पीछे छोड़ चुके हैं। लक्ष्मण के नाम ऑस्ट्रेलिया में 3 वनडे शतक थे, वहीं रोहित के नाम 4 शतक हैं। रोहित ऑस्ट्रेलियाई सरज़मीं पर दूसरे सबसे कामयाब बल्लेबाज़ हैं। ऑस्ट्रेलियाई ज़मीन पर रोहित से ज्यादा शतक सिर्फ श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर कुमार संगकारा के नाम हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में 5 शतक बनाए थे। ज़ाहिर है जब ऑस्ट्रेलिया की तेज़ और बाउंसी विकेट पर रोहित का जलवा कायम रहा तो उम्मीद करनी चाहिए कि घरेलू सिरीज़ में भी रोहित ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी इसी फॉर्म को बरकरार रखेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिरीज़ के लिए तैयार हैं रोहित

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिरीज़ से पहले रोहित ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'नई सिरीज़ के लिए हमेशा तैयार रहता हूं, ये मुझे काफी पसंद भी है। मेरे लिए दौरे की शुरुआत हो गई है।'

फिर दिखेगा हिटमैन का जलवा !

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 मैचों की वनडे और 3 टी 20 मैचों की सिरीज़ का आगाज 17 सितंबर हो रहा है। वैसे तो टीम इंडिया के सभी बड़े बल्लेबाज़ शानदार फॉर्म में नजर आ रहे हैं लेकिन कंगारुओं के खिलाफ रोहित के बेतरीन ट्रैक रिकॉर्ड देखते हुए उनसे उम्मीदें कुछ ज्यादा ही हैं और रोहित भी चाहेंगे कि 2017 में उनका ड्रीम रन ऐसे ही जारी रहे।