1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. BCCI के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के...

BCCI के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिये तैयार है PCB

Bhasha 26 Nov 2016, 9:11:32
Bhasha

कराची: पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान ने कहा है कि सितंबर-अक्तूबर में दुबई में महिला श्रृंखला नहीं होने को लेकर उठे विवाद पर आईसीसी के पाकिस्तान के पक्ष में फैसला देने के बाद वह कानूनी कार्रवाई करके बीसीसीआई से मुआवजे की मांग कर सकता है। शहरयार ने कहा, आईसीसी ने बीसीसीआई से कहा कि वह अपने विदेश मंत्रालय से मिले पत्रों या कोई अन्य दस्तावेज साक्ष्य के रूप में पेश करे जिससे यह पुष्टि हो सके कि उसने अपनी सरकार की सलाह पर पाकिस्तान के खिलाफ आईसीसी महिला चैंपियन्स लीग में खेलने के लिये अपनी टीम यूएई नहीं भेजी।

उन्होंने कहा, आईसीसी तकनीकी समिति ने यह माना कि भारत ने यह श्रृंखला गंवा दी और उसने हमारी महिला टीम को अंक दे दिये क्योंकि बीसीसीआई ऐसा कोई दस्तावेज नहीं दिखा पया जिससे यह पुष्टि होती कि उनकी सरकार ने उन्हें श्रृंखला खेलने से रोका था। आईसीसी के फैसले से बीसीसीआई खुश नहीं है लेकिन शहरयार ने कहा कि आईसीसी के फैसले से पीसीबी का हौसला बढ़ा है। उन्होंने जंग समाचार पत्र से कहा, अब हम चाहते हैं कि भारतीय बोर्ड आईसीसी को साक्ष्य मुहैया कराये कि उसे उनकी सरकार ने द्विपक्षीय श्रृंखला में नहीं खेलने के लिये कहा है जबकि दोनों बोर्डों के बीच 2015 से 2022 तक इस तरह की छह श्रृंखलाएं खेलने के लिये 2014 में समझौता हुआ था।

खान ने कहा, हम यहां तक कि अपनी घरेलू श्रृंखला पिछले साल जनवरी में श्रीलंका में आयोजित करने के लिये तैयार थे लेकिन भारत ने कहा कि उसे अपने विदेश मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिली है।

पीसीबी प्रमुख ने कहा कि बोर्ड की कानूनी टीम को दस्तावेज तैयार करने के लिये कहा गया है जिन्हें पाकिस्तान दुबई में जनवरी में होने वाली आईसीसी की बैठक में विश्व संस्था को सौंपेगा। खान ने कहा, हम आईसीसी के मंच से बीसीसीआई के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे और उन सभी श्रृंखलाओं के लिये उचित मुआवजे की मांग करेंगे जो भारत ने हमारे साथ नहीं खेली और जिनके कारण हमें भारी नुकसान हुआ।

भारत ने 2007 के बाद पाकिस्तान के साथ पूर्णकालिक द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं खेली है। शहरयार ने इसके साथ ही कहा कि यदि बीसीसीआई अगले साल जून में इंग्लैड में चैंपियन्स ट्राफी ग्रुप चरण में भी पाकिस्तान के साथ खेलने से इन्कार करता है तो आईसीसी के पास अब उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिये कानूनी पक्ष है। उन्होंने कहा कि भारत का पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय श्रृंखला खेलने से इन्कार करने के कारण पाकिस्तान क्रिकेट को काफी नुकसान हुआ।