1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. IPL2017: जानें IPL के 10 साल...

IPL2017: जानें IPL के 10 साल के वो 10 विवाद

India TV Sports Desk 21 Apr 2017, 15:34:35
India TV Sports Desk

नई दिल्ली: बात अगर क्रिकेट की हो और वो भी IPL की तो हर क्रिकेट प्रेमी इससे जुड़ी वो हर खबर जानना चाहेगा जो उन्हें रोमांचित कर दे। सन 2008 में IPL की शुरुआत हुई। IPL को शुरु हुए दस साल हो चुके है और इन दस सालों में जहां IPL में अलग-अलग रिकॉर्ड बनें, तो वही यह कई विवादो के लिए सुर्खियों में भी रहा। तो आईए एक नजर डालते हैं IPL के 10 साल के 10 विवादों पर....

कोहली-अनुष्का विवाद

ये विवाद है IPL 2015 का जब बारिश के खलल के कारण रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच चिनास्वामी स्टेंडियम में खेला जा रहा मैच रुका हुआ था। उस वक्त बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा से बात करने VIP बॉक्स में चले गए थे। अगर क्रिकेट के नियमों की मानें तो कोई भी खिलाड़ी मैच खत्म होने तक किसी भी बाहरी व्यकित से नहीं मिल सकता। लेकिन विराट कोहली ने क्रिकेट के इन नियमों की अनदेखी की और चले गए अनुष्का शर्मा से मिलने। तो वही BCCI ने भी विराट की इस गलती को छोटी गलती बताते हुए उन्हें कोई फाइन नहीं किया।

यह भी पढ़े:

हरभजन ने मारा श्रीसंत को थप्पड़

IPL के मैच के दौरान हरभजन सिंह ने श्रीसंत को थप्पड़ जड़ दिया था। हलांकि बाद में दोनों खिलाड़ियो कि सुलाह हो गई थी। लेकन भज्जी को पूरे सीजन के लिए बैन कर दिया गया था।

सपॉट फ़िक्सिंग

राजस्थान रॉयलस के तीन खिलाड़ियो का नाम मैच फ़िक्सिंग के लिए दोषी पाया गया। जिसमें श्रीसंत, अजीत चंदेला और अंकित शामिल थे। जिसमें उन्हें जेल भी जाना पड़ा औऱ BCCI ने इन तीनों खिलाड़ियो पर लाइफ टाइम बैन लगा दिया। साथ ही राजस्थान रॉयल्स के मुख्य आधिकारिक राज कुन्द्रा और चेन्नई सुपर किंग्स के गुरु नाथ मयप्पन को मैच में सट्टा लगाने में दोषी पाया गया और उनकी टीमों को 2 सालों के लिए बैन कर दिया गया।

रविन्द्रा जड़ेजा पर बैन

रविन्द्रा जड़ेजा ने अपने IPL करियर की शुरुआत राजस्थान रॉयल्स के साथ की थी। लेकिन उन्हें IPL के सीजन 2010 में बैन के दौर से गुजरना पड़ा था। हुआ कुछ यूं कि जड़ेजा मुम्बई इंडियनस में शामिल होना चाहते थे, जिसके लिए जड़ेजा ने अंदर ही अंदर मुम्बई की टीम में शामिल होने के लिए बात चलाई और अपनी टीम के कौनट्रेक्ट का उल्लंघन किया था। जिसका पता BCCI को चल गया। फिर क्या था जैसे ही इस बात का पता BCCI को चला, BCCI ने जड़ेजा को एक साल के लिए बैन कर दिया था।

रेव पार्टी विवाद

IPL 2012 में पुणे वारिर्यस के लिए खेलने वाले इंडिया के लैग स्पिनर राहुल शर्मा और साउथ अफ्रीका के आलरॉउडर वेन परनेल को मुम्बई पुलिस ने एक रेव पार्टी से गिरफ्तार किया। जहां इन दोनों पर ड्रक्स लेने के आरोप लगे, तो वही राहुल और परनेल ने इस बात को एक सिरे से खारिज़ कर दिया। हालांकि मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद पता चला कि दोनों खिलाड़ियों ने ड्रग्स लिए थे। मामला कोर्ट पहुंचा और दोनों खिलाड़ियों को बेल दे दी गई।

चेन्नई में श्रीलंकन खिलाड़ियों के खेलने पर बैन

2013 में तमिलनाडु की सरकार ने श्रीलंका के खिलाड़ियों के चेन्नई में खेलने पर रोक लगा दी। क्योंकि श्रीलंका में रहने वाले तमिलों को लेकर कई राजनीतिक समूह भावनात्मक थे। विरोध और सुरक्षा कारणों से BCCI ने भी घोषणा कर दी की कोई भी श्रीलंकन खिलाड़ी चेन्नई में खेले जाने वाले IPL मैचों में नहीं खेलेंगे।

कोची टसकरस की टीम पर प्रतिबंध  

2011 के IPL मैचों से कोची टसकरस ने अपने खेल की शरुआत की थी। एक IPL खेलने के बाद कोची पर हमेशा के लिए बैन लगा दिया गया। क्योंकि कोची अपनी बैंक गांरटी नहीं दे पाई थी। साथ ही शशि थरुर पर भी ये आरोप लगे कि शशि थरुर की इस टीम में हिस्सेदारी है, क्योंकि कोई भी मिनिस्टर IPL में हिस्सेदरी नहीं कर सकता।

अगली स्लाइड में पढ़े और विवादों के बारें में....