1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. IPL 2017: कोलकाता ने गुजरात को...

IPL 2017: कोलकाता ने गुजरात को दिया 188 रनों का लक्ष्य

IANS 21 Apr 2017, 21:55:28
IANS

कोलकाता: रॉबिन उथप्पा (72) और सुनील नरेन (42) की आतिशी पारियों की बदौलत कोलकाता नाइट राइडर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण के 23वें मैच में शुक्रवार को गुजरात लायंस के सामने 188 रनों का विशाल लक्ष्य रखा है। ई़डन गार्डन्स स्टेडियम में टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी कोलकाता ने निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 187 रन बनाए हैं। 

कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर (33) एक बार फिर नरेन को पारी की शुरुआत करने के लिए अपने साथ लेकर आए। नरेन ने निराश नहीं किया और 17 गेंदों में नौ चौके तथा एक छक्के की मदद से 42 रन का पारी खेली। 

नरेन ने अपनी पारी में सभी रन बाउंड्री से बनाए। यह किसी भी बल्लेबाज द्वारा आईपीएल में सिर्फ बाउंड्री से बनाया जाने वाले सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले श्रीलंका के सनथ जयसूर्या ने सिर्फ बाउंड्री से 36 रन बनाए थे। 

नरेन ने गंभीर के साथ मिलकर 3.2 ओवरों में 45 रन जोड़ लिए थ, जिसमें से सिर्फ तीन रन ही गंभीर के थे। गुजरात के कप्तान सुरेश रैना ने गेंद ली और नरेन को जेम्स फॉल्कनर के हाथों कैच करा उनकी तूफानी पारी का अंत किया। 

नरेन के जाने के बाद हालांकि कोलकाता की रनगति थोड़ी धीमी पड़ गई। गंभीर और उथप्पा ने पारी को आगे बढ़ाया। उथप्पा तेज खेल रहे थे तो गंभीर उनसे धीरे आगे बढ़ रहे थे। कोलकाता का कुल स्कोर 114 पहुंच चुका था। इसी स्कोर पर गंभीर फॉल्कनर की गेंद पर रैना को कैच देकर पवेलियन लौट गए। 

मनीष पांडे (24) ने क्रिज पर कदम रखा और एक छोर से तेजी से रन बटोर रहे उथप्पा का अच्छा साथ दिया। मनीष ने उथप्पा के साथ तीसरे विकेट के लिए 55 रनों की साझेदारी की। 

प्रवीण कुमार ने 19वें ओवर में उथप्पा को ब्रैंडन मैक्लम के हाथों सीमारेखा पर कैच करा पवेलियन भेजा। उथप्पा ने 48 गेंदों की अपनी पारी में दो छक्के और आठ चौके लगाए। उथप्पा के जाने के बाद आए युसूफ पठान (नाबाद 11) ने इसी ओवर में दो चौके जड़े। 

पांडे ने आखिरी ओवर की दूसरी गेंद पर चौका मारा लेकिन अगली गेंद पर बासिल थंपी ने उन्हें आउट किया। सूर्यकुमार यादव एक रन बनाकर रन आउट हो गए। शाकिब अल हसन एक रन बनाकर पठान के साथ नाबाद लौटे। 

गुजरात की ओर से जेम्स फॉल्कनर, बासिल थम्पी, सुरेश रैना और प्रवीण कुमार ने एक-एक सफलता हासिल की।