1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. इंग्लैंड ने चटगांव वनडे जीतकर सिरीज़...

इंग्लैंड ने चटगांव वनडे जीतकर सिरीज़ पर किया 2-1 से कब्ज़ा

IANS 13 Oct 2016, 17:17:32
IANS

चटगांव: इंग्लैंड ने जहूर अहमद चौधरी स्टेडियम में बुधवार को हुए तीसरे एवं निर्णायक अंतर्राष्ट्रीय वनडे में बांग्लादेश को चार विकेट से हरा दिया और तीन मैचों की श्रृंखला 2-1 से अपने नाम कर ली। इंग्लैंड ने जीत के लिए मिले 278 रनों के लक्ष्य को 47.5 ओवरों में छह विकेट गंवाकर हासिल कर लिया।

बांग्लादेश के चार बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाने वाले स्पिन गेंदबाज आदिल राशिद को प्लेयर ऑफ द मैच जबकि मैच जिताऊ पारी खेलने वाले बेन स्टोक्स को प्लेयर ऑफ द सीरीज से सम्मानित किया गया।

इंग्लैंड के लिए सैम बिलिंग्स (62) और बेन डकेट (63) ने जहां अर्धशतकीय पारियां खेलीं, वहीं बेन स्टोक्स (नाबाद 47) ने अंत तक नाबाद रहते हुए अपनी टीम को जीत दिलाई।

इंग्लैंड ने इस अहम मैच में सधी हुई शुरुआत की। सलामी बल्लेबाज जेम्स विंस (32) ने बिलिंग्स के साथ मिलकर 63 रनों की साझेदारी की। विंस 12वें ओवर की चौथी गेंद पर नासिर हुसैन के हाथों पगबाधा करार दिए गए।

हालांकि इसके बाद बिलिंग्स ने डकेट के साथ दूसरे विकेट के लिए फिर से 64 रनों की साझेदारी कर टीम को लक्ष्य की ओर स्थिर गति से बढ़ाना जारी रखा। दूसरा विकेट 127 के कुल योग पर बिलिंग्स के रूप में गिरा। बिलिंग्स ने 69 गेंदों में चार चौके और एक छक्का लगाया।

डकेट ने इसके बाद जॉनी बेयरस्टो (15) के साथ तीसरे विकेट के लिए 45 रन जोड़े। इस साझेदारी में डकेट का योगदान 30 रनों का रहा। इंग्लैंड के लिए यह साझेदारी थोड़ी तेज गति से आई।

बेयरस्टो और डकेट इसके बाद जल्दी-जल्दी पवेलियन लौटे। बेयरस्टो का विकेट शफीउल इस्लाम ने जबकि डकेट का विकेट मोसद्देक हुसैन ने लिया। डकेट ने 68 गेंदें खेलीं और चार चौके तथा एक छक्का लगाया।

कप्तान जोस बटलर (25) ने स्टोक्स के साथ दबे पांव जीत की ओर बढ़ना शुरू किया। चूंकि अपेक्षित रन गति ज्यादा नहीं थी, इसलिए इंग्लैंड कभी भी हड़बड़ी में नजर नहीं आई। बांग्लादेश के गेंदबाज भी कुछेक गेंदें छोड़ दी जाएं तो इंग्लिश बल्लेबाजों को परेशान नहीं कर सके।

बटलर हालांकि बांग्लादेशी कप्तान मशरफे मुर्तजा की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो पवेलियन लौटे। मुर्तजा ने अपने अगले ही ओवर में मोइन अली (1) को भी चलता कर दिया। ऐसा लग रहा था कि पिछले मैच की तरह मुर्तजा इस मैच में भी नायकत्व भरा प्रदर्शन तो नहीं करने वाले।

लेकिन स्टोक्स ने क्रिस वोक्स (नाबाद 27) के साथ मिलकर बांग्लादेश की उम्मीदों पर पानी फेरते हुए अपेक्षित रन बना लिए। स्टोक्स और वोक्स ने 7.87 की रन गति से 42 रनों की नाबाद विजयी साझेदारी निभाई।

इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी मेजबान टीम बांग्लादेश ने शीर्ष बल्लेबाजों के सधे प्रदर्शन के बाद मुशफिकुर रहीम (नाबाद 67) की बेहतरीन पारी की बदौलत निर्धारित 50 ओवरों में छह विकेट खोकर 277 रनों का स्कोर खड़ा किया।

बांग्लादेश को सलामी बल्लेबाजों तमीम इकबाल (45) और इमरूल कायेस (46) ने सधी शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने संयत अंदाज में खेलते हुए 19 ओवरों में 80 रनों की साझेदारी की।

हालांकि यहां से बांग्लादेश ने अपने तीन विकेट जल्दी गंवा दिए। इमरूल के रूप में बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को पहली सफलता दिलाई। 122 का स्कोर पहुंचते-पहुंचते बांग्लादेश तमीम और महमुदुल्ला (6) के भी विकेट गंवा चुका था।

लेकिन यहां से मुशफिकुर ने सब्बीर रहमान (49) के साथ चौथे विकेट के लिए 54 रनों की साझेदारी कर टीम को एक बार फिर संभाल लिया। दोनों बल्लेबाजों ने न सिर्फ टीम को स्थायित्व दिया बल्कि रन गति भी तेज की। दोनों बल्लेबाजों ने यह साझेदारी 6.75 के औसत से की।

सब्बीर हालांकि दुर्भाग्यशाली रहे और अर्धशतक से ठीक एक रन पहले आदिल राशिद का शिकार हो पवेलियन लौट गए। सब्बीर ने 46 गेंदों की अपनी तेज पारी में पांच चौके लगाए।

इसके बाद बल्लेबाजी करने आए बांग्लादेश के स्टार हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन (4) इस मैच में भी खास योगदान नहीं दे सके। मोइन अली ने उन्हें विकेट के पीछे जोस बटलर के हाथों कैच कराया। नासिर हुसैन (4) के रूप में राशिद ने अपना चौथा विकेट हासिल किया और बांग्लादेश को छठा झटका देकर उन्हें संकट में ला खड़ा किया।

लेकिन मुशफिकुर ने मोसद्देक हुसैन (नाबाद 38) ने इसे बांग्लादेश के लिए मुसीबत नहीं बनने दिया और सातवें विकेट के लिए 85 रनों की नाबाद साझेदारी कर अपनी टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया।

अंत तक नाबाद रहे मुशफिकुर ने 62 गेंदें खेलीं और चार चौके तथा एक छक्का लगाया। मोसद्देक ने भी उनका अच्छा साथ निभाया और 39 गेंदों की धैर्य भरी पारी में चार चौके जड़े।

दोनों बल्लेबाजों ने 7.18 की रन गति से रन जोड़े। बांग्लादेश ने अंतिम 10 ओवरों में 79 रन और अंतिम पांच ओवरों में 50 रन जोड़े।

पहले एकदिवसीय में इंग्लैंड ने 21 रनों से जीत हासिल की थी, जबकि दूसरा एकदिवसीय बांग्लादेश 34 रनों से जीतने में सफल रहा था।