1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. पेटीएम को लेकर एयरटेल व जियो...

पेटीएम को लेकर एयरटेल व जियो फि‍र आमने-सामने, कुछ और दवाएं आएंगी NPPA के दायरे में

दूरसंचार कंपनियों की आपसी प्रतिस्पर्धा मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम के प्रमुख विजय शेखर शर्मा के साथ सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर पर सार्वजनिक हुई।

Abhishek Shrivastava 06 Mar 2017, 12:37:38 IST
Abhishek Shrivastava

नई दिल्ली। दूरसंचार कंपनियों की आपसी प्रतिस्पर्धा मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम के प्रमुख विजय शेखर शर्मा के साथ सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर पर सार्वजनिक हुई। शर्मा ने अपने सेवा प्रदाता एयरटेल से अधिक डेटा मांगा तो जियो ने मोलभाव में अधिक बेहतर प्लान की पेशकश की।

  • दरअसल शर्मा ने ट्विटर पर बताया कि उन्होंने एयरटेल के कस्टमर केयर पर फोन किया और 2,999 रुपए के प्लान में मौजूदा 15जीबी मासिक इस्तेमाल सीमा के बजाये 60 जीबी मासिक इस्तेमाल का विकल्प पाया।
  • रिलायंस जियो तुरंत इस पर प्रतिक्रिया दी और शर्मा से कहा, अब और कोई नहीं, जियो करो। हमें फोन किए बना ही 499 रुपए में 56 जीबी डेटा मिल रहा है तो 2999 क्यों खर्च कर रहे हैं।
  • शर्मा ने जियो की पेशकश पर खुशी जताई और इसे स्वीकार करने की घोषणा की।
  • इस बीच भारती एयरटेल के सीईओ गोपाल विट्ठल ने पोस्टपेड ग्राहकों को एक ईमेल में कहा है कि वे 13 मार्च से माय एयरटेल एप के जरिए कुछ नि:शुल्क डेटा का इस्तेमाल कर सकेंगे।

कुछ और दवाएं आएंगी कीमत नियंत्रण के दायरे में: एनपीपीए

राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (NPPA) ने कहा कि कुछ और दवाएं उसके नियंत्रण में आएंगी ताकि रोगियों को राहत दी जा सके।
एनपीपीए ने ट्वीटर पर लिखा है, प्राधिकरण की आगामी बैठक नौ मार्च को होगी। कुछ और दवाएं मूल्य नियंत्रण के दायरे में आएंगी।

  • उल्लेखनीय है कि यह नियामक दवाओं का मूल्य तय करता है और उनमें संशोधन करता है।
  • इस साल जनवरी तक 620 से अधिक दवाएं उसके नियंत्रण दायरे में आ चुकी हैं।
  • इस बीच स्टेंट की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए नियामक सात मार्च को स्टेंट विनिर्माताओं व आयातकों के साथ दूसरे दौर की बातचीत करेगा।

नकद लेन-देन पर शुल्क लगाना बहुत ही पश्चगामी कदम : चिदंबरम

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि कुछ सरकारी एवं निजी बैंकों द्वारा उनकी शाखाओं में एक निश्चित संख्या के बाद नकदी लेन-देन करने पर शुल्क लगाना बहुत ही पश्चगामी कदम है।

  • फिलहाल एचडीएफसी, आईसीआईसी बैंक और एक्सिस बैंक समेत कुछ बैंक महीने में चार बार के मुफ्त लेनदेन के बाद पैसा जमा करने या निकालने पर कम से कम 150 रुपए शुल्क वसूलते हैं।
  • चिदंबरम ने ट्वीट किया, नकद जमा करने या निकालने पर लगने वाला बैंक शुल्क बहुत ही पश्चगामी कदम है।
  • उन्होंने कहा, यदि ग्राहक एक ही बार में नकद निकाल लें और उसे अपने घर में रख लें तो क्या बैंक खुश होंगे?