1. Home
  2. लाइफस्टाइल
  3. हेल्थ
  4. सेनेटरी नैपकीन में 12 % GST...

सेनेटरी नैपकीन में 12 % GST का विरोध DRAWING से इस तरह रहा है ये आर्टिस्ट

Written by: shivani singh 17 Jul 2017, 12:46:44 IST
shivani singh

हेल्थ डेस्क: इन दिनों GST आने से देश का हर शख्स परेशान है। आधे लोगों को तो यह बात समझ नहीं आ रही है कि ये बला है क्या। अब GST की बात हो और महिलाओं की बात न हो। ऐसा हो ही नहीं सकता है, क्योंकि सरकार ने सेनेटरी नैपकीन में 12 % GST लगा दिया है। (इन आसानी तरीकों से कोरियाग्राफर गणेश आचार्य ने 1 महीने में घटाया 85 किलो वजन)

आज क समय में भी पीरियड्स को लेकर कई ऐसी भ्रांतिया है। सेनेटरी नैपकिन्स के महत्व को सभी अच्छी तरह से जानते है। भारत की जनसंख्या में 497 मिलियन महिलाएं है। जिसमें से सिर्फ 12 प्रतिशत ही सेनेटरी नैपकिन्स का इस्तेमाल करती है। (आंखो की रोशनी रखनी है हमेशा बरकरार, तो अपनाएं ये टिप्स)

वही 88 प्रतिशत महिलाएं इसके बदले पुराने कपड़े, न्यूज पेपर, रेत, ऐश, लकड़ी के तख्ते, प्लास्टिक के साथ-साथ सुखी पत्तियां इस्तेमाल करती है। सरकार से ये बात नहीं छिपी। फिर भी सेनेटरी नेपकीन में 12 प्रतिशत GST लगा दी है। जिसके खिलाफ महिलाएं जोरो-शोरों से हल्ला कर रही है। महिलाओं के साथ-साथ पुरुष भी इसके खिलाफ खड़े हो रहे है। इतना ही नहीं इसका हल्ला सोशल मीडिया में आसानी से देखा जा सकता है।(सिर्फ 1 रात में गीले तौलिया से करें ये काम और पेट की चर्बी को कहे बाय)

वहीं एक ऐसा आर्टिस्ट सामने आया है। जो कि अपने आर्ट के जरिए सेनेटरी नैपकीन में लगे GST का विरोध कर रहा है। इस आर्टिस्ट का नाम है राज कमल ऐच(Raj Kamal Aich)।

अगली स्लाइड में पढ़ें और