1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. सीक्रेट मुलाकात पर चुप्पी क्यों, कहां...

सीक्रेट मुलाकात पर चुप्पी क्यों, कहां अटकी हार्दिक-राहुल की डील?

बता दें कि कल अहमदाबाद के ताज होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे के फूटेज में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल रात क़रीब 12 बजे अहमदाबाद के ताज होटल के कॉरिडोर में दिख रहे थे। हार्दिक रात भर इसी होटल में रूके थे और सुबह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी अहमदाबाद क

Written by: India TV News Desk 24 Oct 2017, 8:49:42 IST
India TV News Desk

नई दिल्ली: गुजरात की सियासत में जहां हर रोज़ नई हलचल मच रही है। वहीं कई सवालों पर सस्पेंस बना हुआ है। हार्दिक पटेल किस तरफ रुख करेंगे ये भी साफ नहीं है। होटल की सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद ये भी सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर हार्दिक और राहुल इस मुलाकात को सीक्रेट क्यों रखना चाहते हैं। हार्दिक के अलावा भाजपा के खिलाफ और भाजपा के साथ गुजरात के सात चेहरे ऐसे हैं जो इस वक्त राजनीति की धुरी बन गये हैं।

ये चेहरे हैं - हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर, जिग्नेश मेवानी, नरेन्द्र पटेल, वरुण पटेल, रेश्मा पटेल और निखिला वसानी। इन सात चेहरों में से पांच चेहरे पाटीदार आंदोलन से निकले हैं और इस वक्त एक दूसरे पर वार-पलटवार कर रहे हैं। वहीं इन सबके बीच आज हार्दिक पटेल कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं। हार्दिक पटेल और राहुल गांधी के बीच सीक्रेट मीटिंग की खबर के बाद ये माना जा रहा है कि ऐलान भी जल्द ही हो सकता है।

बता दें कि कल अहमदाबाद के ताज होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे के फूटेज में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल रात क़रीब 12 बजे अहमदाबाद के ताज होटल के कॉरिडोर में दिख रहे थे। हार्दिक रात भर इसी होटल में रूके थे और सुबह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी अहमदाबाद के ताज होटल पहुंचे। माना जाता है यहां दोपहर राहुल गांधी और हार्दिक पटेल की गुप्त मुलाकात हुई हालंकि हार्दिक इस मुलाकात से इनकार कर रहे हैं। लेकिन इन तस्वीरों के सामने आने के बाद सवाल खड़े हो रहे हैं कि

  • राहुल और हार्दिक की मुलाकात सीक्रेट क्यों रखी जा रही है?
  • राहुल और हार्दिक के बीच क्या डील हुई है?
  • क्या हार्दिक और राहुल के बीच बातचीत बन चुकी हैं?
  • क्या दोनों के बीच डील किसी बात पर अटकी हुई है?
  • सवालों के जवाब अभी नहीं मिले लेकिन राहुल खुले आम मंच से हार्दिक को न्योता दे चुके हैं

अल्पेश पटेल कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं, जिग्नेश मवानी ने फैसला नहीं लिया है और हार्दिक ने दो दिन पहले तक कांग्रेस से दूरी बनाए रखने का ही बयान दिया है। कुल मिलाकर गुजरात की सियासत में छाये ये सात लोग आने वाले दिनों में बड़ा उलटफेर करने का दावा कर रहे हैं। इन सात चेहरों पर कांग्रेस और भाजपा दोनों दांव भी लगा रहे हैं लेकिन रेस में कौन कितना दौड़ेगा ये तो गुजरात की जनता तय करेगी।