1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. गुजरात चुनाव में आतंकी 'हाफिज़ सईद'...

गुजरात चुनाव में आतंकी 'हाफिज़ सईद' की एंट्री, दिलाएगा वोट!

नितिन पटेल का ये बयान राहुल गांधी के कल हुए गांधीनगर की रैली के बाद आया है। इस रैली में ओबीसी समाज के नेता अल्पेश ठाकोर कांग्रेस में शामिल हुए थे। नितिन पटेल का कहना है कि कांग्रेस सत्ता पर काबिज होने के लिए बार फिर खाम थ्योरी को आगे बढ़ा रही है और इ

Written by: India TV News Desk 24 Oct 2017, 14:00:54 IST
India TV News Desk

नई दिल्ली: किसी भी दिन गुजरात में विधानसभा चुनाव का ऐलान हो सकता है लेकिन एलान-ए-जंग से पहले ही पार्टियों के बीच तीखी बयानबाजी शुरु हो गई है। इसी कड़ी में डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने विवादित बयान दिया है। नितिन पटेल ने कहा कि सत्ता हासिल करने के लिए कांग्रेस आतंकी हाफिज सईद को भी पार्टी में शामिल कर सकती है।

गुजरात में भाजपा के कद्दावर नेता और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि अगर कांग्रेस को ऐसा लगता है कि आतंकवादी कांग्रेस में जुड़ जाए तो गुजरात में कांग्रेस की सरकार बनाने में मदद हो सकती है तो शायद हाफिज सईद या जो भी आतंकवादी है, ऐसे लोगों को भी हो सके तो वो न्योता दे दे।

नितिन पटेल का ये बयान राहुल गांधी के कल हुए गांधीनगर की रैली के बाद आया है। इस रैली में ओबीसी समाज के नेता अल्पेश ठाकोर कांग्रेस में शामिल हुए थे। नितिन पटेल का कहना है कि कांग्रेस सत्ता पर काबिज होने के लिए बार फिर खाम थ्योरी को आगे बढ़ा रही है और इसके लिेए गुजरात के अलग-अलग समुदाय के बीच संघर्ष पैदा करना चाहती है।

नितिन पटेल का आरोप है कि राहुल गांधी या दूसरे नेताओं ने रैली के दौरान अपने भाषण में पाटीदार और गैर आरक्षण वाली जातियों का जिक्र तक नहीं किया जो ये दिखाता है कि कांग्रेस खाम थ्योरी पर आगे बढ़ रही है।

क्या है KHAM थ्योरी?

KHAM थ्योरी में K का मतलब क्षत्रिय, H का मतलब दलित, A का मतलब आदिवासी और M का मतलब मुस्लिम से है। अस्सी के दशक में पूर्व सीएम माधवसिंह सोलंकी ने कांग्रेस के लिए एक मजबूत वोट बैंक बनाने के लिए इस थ्योरी का इस्तेमाल किया था। नितिन पटेल की मानें तो इस थ्योरी के चलते गुजरात में कई दंगे और प्रदर्शन हो चुके हैं और आज एक बार फिर कांग्रेस उसी थ्योरी को आगे बढ़ाना चाहती है।

नितिन पटेल के हाफिज सईद वाले बयान पर कांग्रेस ने पलटवार करने में भी देरी नहीं की। कांग्रेस ने कहा कि मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए भाजपा नेता इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं।