1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. कमाई के लिहाज से क्षेत्रीय दलों...

कमाई के लिहाज से क्षेत्रीय दलों में एआईएडीएमके दूसरे नंबर पर, जानिए कौन है अव्वल

दिल्ली स्थित संस्था ने कहा कि कुल 47 क्षेत्रीय दल हैं जिनमें से 15 ने 2015-16 के लिए अपनी ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग को आज तक जमा नहीं की है जिनमें सपा और राजद भी हैं। एडीआर ने कहा कि पार्टियों के लिए सालाना ऑडिट किये हुए खाते जमा करने की अंतिम तारीख 31

Reported by: Bhasha 28 Oct 2017, 12:52:20 IST
Bhasha

नयी दिल्ली: वर्ष 2015-16 के दौरान 32 क्षेत्रीय दलों की कुल आय 221.48 करोड़ रुपये थी जिसमें से 110 करोड़ रुपये खर्च नहीं हुए। इनमें से सर्वाधिक आमदनी द्रमुक की थी। यह बात एक रिपोर्ट में सामने आई है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में कहा, 2015-16 के लिए 32 क्षेत्रीय दलों की कुल आय 221.48 करोड़ रुपये थी जिसमें से पार्टियों ने 111.48 करोड़ खर्च किये और 110 करोड़ रुपये की राशि बिना खर्च की हुई रह गई।

दिल्ली स्थित संस्था ने कहा कि कुल 47 क्षेत्रीय दल हैं जिनमें से 15 ने 2015-16 के लिए अपनी ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग को आज तक जमा नहीं की है जिनमें सपा और राजद भी हैं। एडीआर ने कहा कि पार्टियों के लिए सालाना ऑडिट किये हुए खाते जमा करने की अंतिम तारीख 31 अक्तूबर, 2016 थी। 2015-16 के दौरान द्रमुक की आय 77.63 करोड़ रुपये थी जो सभी क्षेत्रीय दलों में सर्वाधिक थी।

इसके बाद अन्नाद्रमुक की आय थी और उसके पास 54.93 करोड़ रुपये की राशि जमा हुई। तेलगू देशम पार्टी के पास 15.97 करोड़ रुपये जमा हुए। सर्वाधिक खर्च करने वाले तीन क्षेत्रीय दलों में सबसे पर जदयू रही जिसने 23.46 करोड़ रुपये खर्च किये। उसके बाद तेलगू देशम पार्टी ने 13.10 करोड़ रुपये और आम आदमी पार्टी ने 11.09 करोड़ रुपये खर्च किये।