1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. नोटबंदी पर लोकसभा में हंगामा जारी,...

नोटबंदी पर लोकसभा में हंगामा जारी, प्रश्नकाल बाधित

Bhasha 22 Nov 2016, 12:19:57
Bhasha

नयी दिल्ली: बड़े नोटों को अमान्य करने के मोदी सरकार के निर्णय के मुद्दे पर आज लोकसभा में लगातार दूसरे दिन विपक्षी सदस्यों ने भारी हंगामा किया और सदन का कार्य स्थगित करके मतविभाजन वाले नियम 56 के तहत तत्काल चर्चा कराने की मांग की। हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही करीब 11 बजकर 20 मिनट पर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। सरकार का कहना है कि यह कदम कालाधन, भ्रष्टाचार और जाली नोट के खिलाफ उठाया गया है और वह नियम 193 के तहत चर्चा कराने को तैयार है हालांकि विपक्षी दल कार्य स्थगित करके चर्चा कराने की मांग पर अड़े हुए हैं।

इस विषय पर अपनी मांग के समर्थन में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, वाम दल के सदस्य अध्यक्ष के आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे। अन्नाद्रमुक सदस्यों को भी अपने स्थान से बाहर आकर खड़े देखा गया। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और सदन की कार्यवाही चलने देने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि अगर आप गरीबों, आम लोगों की परेशानियों को उठाना चाहते हैं तो चर्चा करें। अध्यक्ष ने विपक्षी सदस्यों के हंगामे और नारेबाजी के बीच प्रश्नकाल की कार्यवाही चलायी। इस दौरान कुछ प्रश्न लिये गए और संबंधित मंत्रियों ने जवाब दिये।

इस दौरान विपक्षी सदस्य हाथों में पोस्टर लेकर नारेबाजी करते रहे। कुछ सदस्य जवाब दे रहे मंत्री के सामने आ कर नारेबाजी करने लगे। आज जब कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह और गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू अपने मंत्रालय से जुड़े सवाल का जवाब दे रहे थे तब आसन के समीप शोर शराबा करते कुछ सदस्य उनके सामने आए गए। अध्यक्ष ने उनसे मंत्री के सामने नहीं आने को कहा। लेकिन सदस्य मंत्री के समक्ष नारेबाजी करते रहे।

इस पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा आप टीवी पर आना चाहते हैं। तो जरूर आइए। मैं लोक सभा टीवी से आग्रह करती हूं कि वो इन्हें दिखाये। आप इधर आ जाएइ, आपको टीवी पर जरूर दिखायेंगे। उन्होंने कहा कि यह तरीका ठीक नहीं है। आप लोगों की परेशानी को उठाना चाहते हैं तो चर्चा करें, इस तरह से शोर शराबा करना ठीक नहीं है। लोगों की तकलीफ रखने का यह तरीका ठीक नहीं है। अध्यक्ष ने कहा कि अगर आप वास्तव में जनप्रतिनिधि हैं तो इस प्रकार हंगामा करना उचित नहीं है। अध्यक्ष ने सदस्यों से फिर से अपने स्थान पर जाने का आग्रह किया। पर इसका कोई असर नहीं हुआ। हंगामा बढ़ता देख उन्होंने सदन की कार्यवाही 11 बजकर 20 मिनट पर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

इससे पहले आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर कांग्रेस, तृणमूल, वाम दलों ने 500 रूपये और 1000 रूपये के नोटों को अमान्य करने के कारण आम लोगों को हो रही परेशानियों का मुद्दा उठाया और कार्यस्थगित करके तत्काल चर्चा शुरू कराने की मांग की। प्रश्नकाल में एक सवाल का जवाब देने के क्रम में कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि आप किसानों की बात करते हैं तो आप सवाल पूछें और मेरा उत्तर सुनें। कल संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा था कि हम इस विषय पर चर्चा कराने को तैयार हैं। भारत सरकार इस पर नियम 193 के तहत चर्चा कराने को तैयार है। पूरी जनता मोदी सरकार के इस निर्णय के साथ है। हम चर्चा को तैयार हैं।