1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. 2 मिनट में जानिए कौन हैं...

2 मिनट में जानिए कौन हैं रामनाथ कोविंद जो हैे रायसीना हिल्स के लिए तैयार!

Written by: Khabarindiatv.com 20 Jul 2017, 11:06:15 IST
Khabarindiatv.com

नई दिल्ली: एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद  का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के तहसील डेरापुर के गांव परौंख में अक्टूबर 1945 में हुआ था। रामनाथ कोविंद पेशे से वकील रहे हैं। 1991 में बीजेपी में शामिल हुए। 8 अगस्त 2015 को उन्हें बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा था, ‘मुझे यकीन है कि कोविंद बेहतरीन राष्ट्रपति साबित होंगे और गरीबों एवं वंचित समुदायों की मजबूत आवाज बने रहेंगे।’ मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘कोविंद के कानूनी क्षेत्र में अपनी उत्कृष्ट अनुभव के साथ संविधान को लेकर उनके ज्ञान और उनकी समझ से देश को लाभ होगा।’

रामनाथ कोविंद का परिचय

  • रामनाथ कोविंद वर्तमान में बिहार के राज्यपाल हैं
  • रामनाथ कोविन्द का जन्म अक्टूबर 1945 में कानपुर जिले में हुआ था
  • रामनाथ कोविन्द भारतीय जनता पार्टी के राजनेता हैं
  • वे बीजेपी से राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं 
  • अनुसूचित जाति के हैं राम नाथ कोविन्द
  • कोविन्द का सम्बन्ध कोरी या कोली जाति से है
  • दिल्ली हाईकोर्ट में वकालत से करियर की शुरुआत
  • 1977-1979 तक दिल्ली हाईकोर्ट में केंद्र सरकार के वकील रहे
  • 1991 में बीजेपी में शामिल हुए, 1994 में राज्यसभा सदस्य निर्वाचित हुए
  • 2000 में यूपी से फिर राज्यसभा सदस्य निर्वाचित हुए
  • लगातार 12 साल तक राज्यसभा सदस्य रहे
  • बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रह चुके हैं राम नाथ कोविन्द
  • बीजेपी दलित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और कोली समाज के अध्यक्ष रहे हैं
  • अगस्त 2015 में बिहार के राज्यपाल पद पर नियुक्ति हुई

देखिए वीडियो-

भाजपा नेताओं के मुताबिक, एक समय हालांकि ऐसा था, जब पार्टी कोविंद को बसपा प्रमुख मायावती के खिलाफ एक दलित चेहरे के तौर पर पेश करना चाहती थी। कानपुर देहात में डेरापुर तहसील के झींझक कस्बे के एक छोटे से गांव परौख के रहने वाले रामनाथ कोविंद की प्रारंभिक शिक्षा संदलपुर ब्लॉक के गांव खानपुर से हुई। कानपुर के बीएनएसडी इंटर कॉलेज से उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई की। कानपुर यूनिवर्सिटी से बीकॉम और इसके बाद डीएवी लॉ कॉलेज से वकालत की पढ़ाई की। कोविंद ने दिल्ली हाईकोर्ट में वकालत की शुरुआत की। फिर दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में 16 साल तक प्रैक्टिस की।