1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. एयर इंडिया की फ्रांसिस्को-दिल्ली फ़्लाइट में...

एयर इंडिया की फ्रांसिस्को-दिल्ली फ़्लाइट में यात्रियों ने किया अंधेरे में 20 घंटे का सफ़र

India TV News Desk 02 Dec 2016, 7:58:01
India TV News Desk

नई दिल्ली: एयर इंडिया की फ्लाइट से पिछले दिनों फ्रांसिस्को से दिल्ली आए 45 यात्रियों को वो दिन जिंदगीभर याद रहेगा। इसका कारण जान आप भी चौंक जाएंगे। दरअसल फ्रांसिस्को से दिल्ली आ रहे 45 यात्रियों को लगभग 20 घंटे का सफ़र अंधेरे और बिना एयर वेंट के करना पड़ा। यात्रियों से मिली शिकायतों के अनुसार प्लेन के एक हिस्से में 20 घंटे तक न तो लाइट थी और न ही एयर वेंट काम कर रहे थे। इसके अलावा सीट के पीछे लगे टीवी भी नहीं चल रहे थे। हैरान करने वाली बात तो यह है कि इस ख़राबी के बारे चालक दल को पहले से ही मालूम था लेकिन इसके बावजूद विमान ने उड़ान भरी।

इससे भी ज्यादा हैरानी की बात तो यह थी कि जब यात्रियों ने चालक दल को इस परेशानी के बारे में बताया तो उनका कहना था कि इस ख़राबी को दूर नहीं किया जा सका और अब विमान को उड़ाने के अलावा कोई और विकल्प नहीं हैं। यात्रियों के हंगामे के बाद उन्हें शिकायत भरने का एक फ़ार्म दिया गया लेकिन उन्हें यात्रा अंधेरे में ही करनी पड़ी।

 इसी फ़्लाइट से दिल्ली पहुंची 78 वर्षीय जैन के नैफ ने एयर इंडिया वापस लौटने पर मुक़दमा करने की धमकी दी है। उन्होंने कहा, "मैं 19 नवंबर को एयर इंडिया की फ़्लाइट नंबर 174 से दिल्ली पहुंची। मुझे 20 घंटे का सफ़र बिना लाइट और बिना एयर वेंट के करना पड़ा। गर्मी के कारण मैं सो भी नही पाई। मुझे बताया गया कि पहले की उड़ान के दौरान भी बिजली की समस्या थी जिसे ठीक नहीं किया जा सका। मैं दो दिसंबर को वापस सेन फ़्रांसिस्को लौट रही हूं और मैंने मुआवज़े के तौर पर अपना क्लास बदलने को कहा लेकिन मेरी मांग ठुकरा दी गई।

 उन्होंने कहा कि अगर मुआवज़े के तौर पर मुझे इकॉनॉमी क्लास से बिज़नैस क्लास में शिफ़्ट नहीं किया गया तो वह एयर इंडिया पर मुक़दमा करेंगी और इस जानकारी को फ़ेसबुक पर शेयर भी करेंगी। एक बुज़र्ग होने की वजह से 20 घंटे का वह सफ़र बेहज तकलीफदेह था। जैन कहा कि उनके साथ यह 78 साल में पहली बार हुआ है। यह विमान यात्रा उनकी अब तक की सबसे बेकार यात्रा थी। उन्होंने बताया कि मैंने दो अलग-अलग ग्राहक सेवा केंद्रों को 4 ईमेल किए लेकिन किसी का भी जवाब नहीं आया। जैनेट ने कहा, मैंने एयर इंडिया को कई बार लेकिन किसी ने भी मेरी शिकायतों का कोई जवाब नहीं दिया।

देखा जाए तो इस तरह की लंबी दूरी के सफर में एकमात्र टीवी ही यात्रियों के मनोरंजन का जरिया होता है लेकिन इस विमान यात्रा के दौरान सभी 45 यात्रियों के आगे टीवी तो था लेकिन चल नहीं रहा था सभी यात्री अंधेरे और गर्मी में बैठे हुए थे।