1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. RSS की मांग, संघ को बदनाम...

RSS की मांग, संघ को बदनाम करने के मामले की जांच हो

Bhasha 14 Oct 2016, 19:44:12
Bhasha

जालंधर: मीडिया के एक वर्ग और सोशल मीडिया पर गलत चित्रों के माध्यम से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) को बदनाम किये जाने आरोप लगाते हुए संघ के प्रांतीय प्रचार प्रमुख ने आज यहां प्रशासन से मामले की गहन जांच करने तथा आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पंजाब में प्रचार प्रमुख रामगोपाल ने आज शाम यहां बयान जारी कर कहा, मीडिया के एक वर्ग में और सोशल मीडिया पर गलत चित्रों के माध्यम से संघ को बदनाम करने और समाज में आपसी वैमनस्य फैलाने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है।

रामगोपाल ने आशंका जतायी कि राज्य का माहौल खराब करने के उद्देश्य से एक षडयंत्र के तहत इस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। इसलिए राज्य प्रशासन को पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर गलत तरीके से और गलत चित्र जारी करने वाले आरोपियों को न्याय की जद में लाकर उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

उन्होंने कहा, विजयादशमी के दिन पंजाब में भी पथ संचलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। पंजाब के आयोजन का सभी राष्ट्रीय मीडिया में सचित्र समाचार छपा लेकिन मीडिया का एक वर्ग कुछ ऐसे लोगों का भी चित्र छापा जिसका इस आयोजन से कोई लेना देना ही नहीं था।

उन्होंने कहा कि मीडिया के एक वर्ग ने सिखों की धार्मिक भावनाएं भड़का कर उन्हें संघ के खिलाफ खड़ा करने तथा समाज के दो वर्गों में विवाद पैदा करने का कुत्सित प्रयास किया। सोशल मीडिया पर भी कुछ ऐसा ही हो रहा है जिससे समाज का वातावरण दूषित हो रहा है और तनाव पैदा होने की आशंका है।

रामगोपाल ने कहा, पथ संचलन में सिख समुदाय के भाईयों ने भी हिस्सा लिया था और लुधियाना के एक अखबार ने जालंधर के भगवान परशुराम जयंती शोभायात्रा की तस्वीर को पथ संचलन से जोड़ कर उसे छापा और सिखों को संघ से दूर करने का प्रयास किया है।

उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से संघ को बदनाम करने का षड्यंत्र चल रहा है। ऐसे षड्यंत्रकारियों को समाज अच्छे से जानता है और उनकी कुत्सिक मंशा को कभी सफल नहीं होने देगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि संघ सिख मर्यादाओं का पूरा आदर-सम्मान करता है।