1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. ‘पद्मावती’ रिलीज नहीं होने देगी करणी...

‘पद्मावती’ रिलीज नहीं होने देगी करणी सेना, कहा- ‘ये जौहर की ज्वाला है, आगे बहुत कुछ जलेगा’

Written by: Khabarindiatv.com 15 Nov 2017, 19:05:07 IST
Khabarindiatv.com

जयपुर: संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी और रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर के अभिनय से सजीं फिल्‍म 'पद्मावती' के विरोध में राजपूत करणी सेना ने 1 दिसंबर को बंद का ऐलान किया है। करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा, ये जौहर की ज्वाला है, आगे बहुत कुछ जलेगा। रोक सको तो रोक लो। उन्होंने कहा, मैं भरोसा दिलाता हूं कि फिल्म रिलीज नहीं होने देंगे और देशभर में इसका विरोध करेंगे।

कालवी ने आगे कहा, 'पद्मावती की जांच के लिए पांच लोगों की टीम बनाई जाए जो फिल्म के ऐतिहासिक तथ्यों की जांच करें। ये जौहर की ज्वाला है, बहुत कुछ जलेगा। हमने सिर कटा कर इतिहास रचा था लेकिन अब सिर गिना कर होगा।'' उन्होंने फिल्म के विरोध के लिए सभी जाति, धर्म के लोगों को साथ आने की अपील की और कहा कि हम 1 तारीख को देशभर में बंद का आव्हान करते हैं।

आखिर क्‍यों नाराज है राजपूत समाज, रानी पद्मावती के साथ क्‍या है खास कनेक्‍शन ?

क्‍योंकि राजपूत समाज का मानना है कि रानी पद्मावती राजा रत्‍न सिंह की धर्म पत्‍नी थी। लोगों का ऐसा मानना रहा है कि चित्‍तौड़गढ़ की रानी पद्मावती की खूबसूरती पर अलाउद्दीन खिलजी मोहित था जिसके चलते उसने  चित्‍तौड़गढ़ पर हमला किया था। इस हमले के बाद रानी पद्मावती और किले में मौजूद अन्‍य महिलाओं ने जौहर कर (खुद को जलाकर) आत्‍महत्‍या कर ली थी।

राजपूत समाज इस बात को लगातार मानता आ रहा है कि मुगलों के आक्रमण के बाद रानी पद्मावती ने 16000 रानियों के साथ जौहर किया था ताकि देश और राजपूत समाज की इज्‍जत और मान मर्यादा के साथ कोई खिलवाड़ ना हो। लेकिन सजंय लीला भंसाली अपनी इस फिल्‍म में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच प्रेम संबंध की कहानी दिखाकर इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं और उनका यह प्रयास गलत है ऐसे में अगर यह फिल्‍म रिलीज होती है तो राजपूत समाज के साथ ही हिंदू समाज भी सड़कों पर उतरेगा और पूरा विरोध किया जाएगा।