1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. भारत-रूस के बीच रक्षा सहित कई...

भारत-रूस के बीच रक्षा सहित कई क्षेत्रों में 16 अहम समझौते

India TV News Desk 15 Oct 2016, 14:57:56
India TV News Desk

गोवा में ब्रिक्स समिट से पहले भारत और रूस के बीच द्विपक्षीय बातचीत के बाद रक्षा सहिट विभिन्न क्षेत्रों में 16 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। इन समझौतों से रक्षा क्षेत्र में भारत और रूस के बीच नये रिश्ते बनेंगे। समझौतों के अनुसार भारत को कोमोव मिलिट्री हेलीकॉप्टर मिलेंगे, यही नहीं रुस भारत को एस-400 सिस्टम भी देगा। इसके अलावा दोनों देशों के बीच गैस पाइपलाइन पर स्टडी, आंध्र प्रदेश और हरियाणा में स्मार्ट सिटी, शिक्षा, रेल की स्पीड बढ़ाने समेत कई क्षेत्रों में अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।

इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दोनों देश वार्षिक सैन्य औद्धोगिक कॉंफ़्रेस पर काम करने के लिए सहमत हो गए। इस कॉंफ़्रेंस में दोनों देशों के हिस्सेदार भाग ले सकेंगे। "राष्ट्रपति पुतिन और मैंने विभिन्न क्षेत्रों पर गहन और उपयोगी बातचीत की है। पिछले दो शिखर सम्मेलनों के बाद से हमारी साझेदारी मज़बूत हुई है। पुतिन के सहयोग से हम व्यापार की संभावनाएं बढ़ाने को तैयार हैं। भविष्य को देखते हुए हम साइंस और टैक्नॉलॉजी कमिशन का गठन करने पर भी सहमत हुए हैं।"

पीएम मोदी ने पुतिन के साथ संयुक्त प्रेस स्टेटमेंट के दौरान एक रुसी कहावत का उदहारण देते हुए कहा कि - "एक पुराना दोस्त दो नए दोस्तों से ज्यादा भरोसेमंद होता है।" 

सीमा पारआतंकवाद के मामले में रूस का रुख एक दम स्पष्ट है। हम उनकी सराहना करते है कि इस क्षेत्र में आतंकवाद का मुकाबला करने में जो सहयोग और समर्थन हमें मिल रहा है। हमारी आतंकवाद को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति है।

भारत और रूस के बीच 'मेक इन इंडिया' के तहत कामोव हेलीकॉप्टर के संयुक्त उत्पादन के समझौते पर मुहर लग गई है।
कामोव और HAL के बीच पीएम मोदी और पुतिन के मौजूदगी में दस्तख़त हुए। ये हेलिकॉप्टर सेना के बेड़े में पुराने पड़ चुके चीता और चेतक हेलिकॉप्टरों की जगह लेंगे।

ये हैं समझौते और सहमति-पत्र जिन पर हुए हस्ताक्षर

-एयर डिफेंस सिस्टम 
-कोमोव और एचएएल के बीच करार
-आंध्रप्रदेश में ट्रांसपोर्ट और स्मार्ट सिटी 
-शिपिंग कारपोरेशन को लेकर करार
-हरयाणा में स्मार्ट सिटी 
-गैस पाइपलाइन को लेकर समझौते 
- निवेष फंड का गठन 
-रेल्वे
-कमोव हेलिकॉप्टर 
-नेविगेशन 
-साइंस एवं टेक्नोलॉजी 
-आयल एवम् नेचुरल गैस 

गोवा की राजधानी पणजी में आज से ब्रिक्स समिट शुरू हो रहा है. पांच देशों के इस सम्मेलन में तमाम आपसी और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा होगी साथ ही आपसी सहयोग को नई ऊंचाई देने के उपायों पर भी सदस्यों देशों के प्रमुख बात करेंगे। समिट में आतंकवाद और आर्थिक सुधारों के साथ ब्रिक्स सदस्य देशों की अलग रेटिंग एजेंसी बनाने पर भी चर्चा होगी. इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी की सदस्य देशों के प्रमुखों के साथ द्विपक्षीय मुलाकातें भी हो रही हैं।

समिट में हिस्सा लेने के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी गोवा पहुंच चुके हैं। पीएम मोदी से जिनपिंग की मुलाकात शाम 5:40 बजे होगी. जानकारी के मुताबिक, चीनी नेता अपने इस दौरे पर पाकिस्तान का मुद्दा उठा सकते हैं। समिट में चीन भारत को प्रभावित कर पाकिस्तान के साथ उसके राजनयिक गतिरोध को तोड़ने की कोशिश करेगा।